Live 7 Bharat
जनता की आवाज

इजरायल-हमास युद्ध : ईरान को अमेरिका की चेतावनी

हमारे नागरिकों को निशाना बनाया तो सीधे जंग में उतर सकते हैं-अमेरिका हमारे नागरिकों को निशाना बनाया तो सीधे जंग में उतर सकते हैं-अमेरिका

- Sponsored -

दिल्ली डेस्क

अमेरिका ने ईरान को चेतावनी देते हुए कहा है यदि उसके नागरिकों पर हमले किए गए तो वो चुप नहीं बैठेगा. अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् में कहा कि यदि ईरान या उसके समर्थित गुटों ने यदि अमेरिकी प्रतिनिधि या नागरिकों पर हमला किया तो उसका “निर्णायक” जवाब दिया जाएगा. उन्होने कहा कि अमेरिका ईरान के साथ टकराव नहीं चाहता और न ही ये चाहता है कि युद्ध आगे बढ़े परन्तु अपने लोगों की रक्षा के लिए हम हर जरूरी कदम उठाएंगे. एंटनी ब्लिंकन ने कहा कि ये बेहद जरूरी है कि जेग के नए मोर्चे न खोले जाएं. अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा कि किसी भी तरह का आतंकवाद गैरकानूनी और अनुचित है चाहे वो लश्कर-ए-तैयबा का मुंबई में हमला हो या फिर हमास का किबुत्ज बेरी में हो.

- Sponsored -

इस बीच पूरे मामले में एक और ट्विस्ट आ गया है. इजरायल और संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटारेस में भी ठन गई है. गुटारेस के बयान से इजरायल आग बबूला हो उठा है. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटारेस ने कहा कि इजरायल पर आतंकी हमला अचानक हुई प्रतिक्रिया है. उन्होने कहा कि फिलिस्तीन के लोग 56 साल रसे परेशान है. उनकी जमीन पर अवैध कब्जा किया गया है. गुटारेस के इस बयान पर विरोध जताते हुए इजरायल ने उनसे इस्तीफे मांग की है. इजरायल ने कहा है कि एंटोनियो गुटारेस संयुक्त राष्ट्र महासचिव पद के लायक नहीं हैं.

इजरायल और हमास के बीच जारी युद्ध में ईरान की भूमिका को लेकर अमेरिका लगातार सवाल उठाता रहा है. इजरायल पर हमला करने वाले हमास और लेवनान स्थित हिजबुल्ला को ईरान का समर्थन हासिल है. उधर अमेरिका इजरायल को पूरी तरह सैन्य समर्थन दे रहा है. ईरान बार-बार इजरायल को गाजा पर हमला रोकने की चेतावनी दे रहा है.ईरान ने कहा है कि यदि गाज़ा पर हमले नहीं रुके तो वो भी कड़े कदम उठा सकता है. परन्तु इजरायल ने तमाम चेतावनियों को दरकिनार करते हुए गाजा पर हमले और तेज कर दिए हैं. हमास के स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को इजरायली हमले में 700 लोगों के मारे जाने की बात कही है. इजरायल एक ओर बमबारी कर रहा है तो दूसरी ओर उसकी सेना जमीनी कार्रावाई के लिए बी पूरी तरह से तैयार है. सिर्फ सरकार के आदेश का इंतजार किया जा रहा है.इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा है कि हमास के खात्मे के साथ ही हमला रुकेगा.

- Sponsored -

इजरायल के हमलों के आगे अब हमास का हौसला टूटता दिख रहा है. हमास ने फ्यूल के बदले 50 बंधकों को रिहा करने की पेशकश की है जिसे इजरायल ने अबतक स्वीकार नहीं किया है. 7 अक्टूबर को इजरायल पर हमास के आतंकी हमले के बाद शुरू हुए युद्ध में अबतक करीब 6500 लोग मारे जा चुके हैं.

 

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.

Breaking News: