Live 7 Bharat
जनता की आवाज

विपक्षी नेताओं का फोन हैंकिग मामला:एप्पल की सफाई और सरकार का पलटवार

विपक्षी नेताओं के आरोप पर एप्पल का बयान, सामाजिक तत्वों का हो सकता है काम : एप्पल

- Sponsored -

विपक्षी नेताओं के आईफोन हैकिंग मामले में एप्पल ने बयान जारी करते हुए कहा कि एप्पल की तरफ से आमतौर पर ऐसा कोई भी नोटिफिकेशन जारी नही होता है। मैसेज देखकर लग रहा है कि ये किसी आसामाजिक तत्व या “एल्गोरिदम की खराबी” के कारण हो सकता है। ऐसा क्यों हुआ इसकी जानकारी जुटाई जा रही है। ऐप्पल की कुछ सूचनाएं झूठी चेतावनी हो सकती हैं. ऐसी सूचनाएं जारी करने की वजह बताने में फिलहाल कंपनी समर्थ नही है। हालंकि भविष्य में हैकर्स से बचने के लिए ये मैसेज जरूर काम आ सकता है। एप्पल की तरफ से जल्द ही मामले में बयान जारी किया जाएगा।

टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा, कांग्रेस नेता शशि थरूर, शिवसेना की प्रियंका चतुवेर्दी और एआईएमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी समेत कई विपक्षी पार्टियों के सांसदों ने उनके फोन हैक किये जाने की कोशिश का आरोप लगाया है. इन्होने एप्पल की ओर से आए अलर्ट मैसेज का हवाला देते हुए केंद्र सरकार पर फोन हैकिंग की कोशिश का आरोप लगाया है। कई लोगों ने तो फोन पर एप्पल की तरफ से आए मैसेज के स्क्रीन शॉट को साझा किया है।

- Sponsored -

विपक्षी नेताओं पर सरकार और बीजेपी का  पलटवार

विपक्ष का आरोप सामने आने के बाद केंद्र सरकार ने कहा है कि वो इस मुद्दे पर काफी गंभीर है । केंद्रीय संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि जांच के आदेश दे दिए गए हैं और सरकार इस मुद्दे की तह तक जाएगी। उन्होने कहा कि कुछ लोगों की आलोचना करने की आदत हो गई है। ये लोग देश की उन्नति को पचा नहीं सकते। संचार मंत्री ने कहा कि एप्पल ने 150 देशों में ये सूचना जारी की है। एप्पल के पास कोई जानकारी नहीं है। उन्होंने अनुमान के आधार पर ये सूचना भेजी है।

बीजेपी की तरफ से पूर्व संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मोर्चा संभाला। उन्होने सरकार पर लगाए जा रहे विपक्ष के आरोप को बेबुनियाद बताया. रविशंकर प्रसाद ने कहा कि जो लोग आरोप लगा रहे हैं उन्हे एप्पल कंपनी से सफाई मांगना चाहिए और एफआईआर दर्ज कराना चाहिए.  पूर्व संचार मंत्री ने इन आरोपों की तुलना पेगासस मामले में  राहुल गांधी के लगाए आरोपों से की . रविशंकर प्रसाद ने कहा कि राहुल गांधी ने पेगासस के जरिए फोन की जासूसी का आरोप लगाया था परन्तु जांच के लिए जांच कमेटी को अपना फोन देने से मना कर दिया था.

 

5 राज्यों के चुनाव से पहले गरमाया हैकिंग का मुद्दा

एप्पल हैकिंग मामला 5 राज्यों में चुनाव से पहले गरमाया है। हैकिंग के इस मुद्दे से राजनीतिक गलियारे में आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला शुरू हो गया है। टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा ने सोशल मीडिया पर एलर्ट मैसेज का स्क्रीन शॉट शेयर करते हुए गृह मंत्रालय को टैग कर लिखा, ‘अडाणी और पीएमओ के लोग मुझे डराने की कोशिश कर रहे हैं. आपका डर देखकर मुझे आप पर दया आ रही है. ’ कांग्रेस नेता शशि थरूर ने भी सोशल मीडिया साइट ‘एक्स’ पर लिखा. एप्पल कंपनी की ओर से एलर्ट मैसेज आने की जानकारी मिली . उन्होनें तंज करते हुए अपने उपर इस तरह से टैक्स पेयर्स के पैसे को खर्च करने पर सवाल उठाया है. शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने अपने ट्वीट में गृहमंत्रालय को टैग करते हुए लिखा कि आश्चर्य है, कौन हैं ये लोग? शेम ऑन यू.
कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए लिखा, ‘प्रिय मोदी सरकार, आप ऐसा क्यों कर रहे हो ?’

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.

Breaking News: