Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

मांदर की बिक्री पर दिख रहा महंगाई का असर, नहीं मिल रहे उचित दाम

- Sponsored -

कुडू-लोहरदगा : कुडू बाज़ार टांड स्थित साप्ताहिक बाज़ार में गुरूवार 16 सितंबर को कर्मा पर्व की रौनक़ दिखी। पूरा बाज़ार मांदर, भेलवा और सलेया के पत्तों से पटा है, हर आने जाने वाले के हाथों में पत्तो का गुच्छा दिखाई दे रहा था। सुदूरवर्ती क्षेत्रों मडमा, गोली पहान टोली, हडगढ़ा, महुआ टोली, सलगी, धौरा, अस्नापनी, खम्हार, दुधिमाटी, बांझी टोला आदि कई जगहों भेलवा और सलेया के पत्तों के गुच्छे बनाकर बेचने आये भदई गंझु, प्रदीप गंझु, राजेश गंझु आदि ग्रामिणो ने बताया की 5 से 10 रु का एक गुच्छा बिक रहा है और प्रत्येक ग्रामीण कम से कम 100 से 150 गुच्छों की बिक्री कर लेता है। वहीं चान्हो के ताला, शिलागाई, आंजन, कुडू के ननतिलो अदि कई गांव से कुडू बाज़ार में मांदर बेचने पहुंचे सोहन महली, भरत, रमेश, सुरेश ने बताया की उनका परिवार पिछली कई पीढ़ियों से मांदर बनाने का काम करता हैं, चार से पांच दिन की कड़ी मेहनत से एक मांदर तैयार होता है इस बार और वर्षो के बनिस्बत बाज़ार बिक्री बिलकुल कम है और मुश्किल से 3 से लेकर 4 हज़ार में ही मांदर बिक रहे हैं। जबकि यही मांदर 4 से 6 हज़ार तक में बिका करते थे। कुल मिलाकर कोरोना और अप्रत्याशित मंहगाई की मार इस उधोग से जुड़े लोगों पर भी पड़ी है। गौर तलब है कि कर्मा खास कर बहनों द्वारा भाइयों की लम्बी आयु और सुखी जीवन की कामना करने का पर्व है। पर्व की शाम महतो द्वारा काट कर लाइ गयी करम डाल को कुवारी लड़कियों द्वारा परिक्ष कर स्वागत किया जाता है तत्पश्चात पहान, पूजार द्वारा विधिवत पूजा पाठ कराकर अखरा में गाडा जाता है। पूजा संपन्न होने के बाद पूरी रात जशन मनाकर नाच-गान करते हुए दूसरे दिन विसर्जन किया जाता है।
Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply