Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

भारतीय क्रिकेटरों ने दक्षिण अफ्रीकी ब्रॉडकास्टर पर निकाला गुस्सा

- Sponsored -

केपटाउन : तीसरे और निर्णायक टेस्ट के तीसरे दिन दक्षिण अफ्रीकी कप्तान डीन एल्गर को डीआरएस में नॉटआउट करार दिए जाने पर भारतीय कप्तान विराट कोहली सहित कई भारतीय खिलाड़ियों ने दक्षिण अफ्रीकी ब्रॉडकास्टर सुपरस्पोर्ट के खिलाफ खुलकर अपनी नाराजगी जताई। यह घटना दक्षिण अफ्रीकी पारी के 21वें ओवर में घटी। रविचंद्रन अश्विन की एक गेंद एल्गर के पैरों पर लगी। अंपायर मराय इरास्मस ने इसको पगबाधा आउट दिया। लेकिन दक्षिण अफ्रीका द्वारा डीआरएस लेने पर इस फैसले को पलट दिया गया, क्योंकि बॉल ट्रैकिंग में दिखा कि गेंद स्टंप के ऊपर से जा रही थी। इससे झुंझलाए कोहली स्टंप माइक पर आए और कहा,जब आपकी टीम गेंद को चमकाती है, तब भी ध्यान दिया करो, सिर्फ विपक्षी टीम पर नहीं। हमेशा लोगों को पकड़ने की कोशिश किया करो। सिर्फ कोहली अकेले नहीं थे। टीम के उपकप्तान केएल राहुल ने कहा, पूरा देश 11 खिलाड़ियों के खिलाफ है।
वहीं अश्विन ने कहा, सुपरस्पोर्ट, आपको जीतने के लिए कुछ और उपाय अपनाने चाहिए। हालांकि इस फैसले से अंपायर इरास्मस भी चकित थे जब उन्होंने बड़े स्क्रीन पर बॉल ट्रैकिंग देखने के बाद अपना सिर हिलाते हुए असहमति प्रकट की। यह असंभव है, उन्हें कहते सुना गया। आपको बता दें कि वर्तमान सीरीज में बॉल ट्रैकिंग तकनीक को एक स्वतंत्र संस्था हॉकआई देख रही है। दिन के खेल के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में दक्षिण अफ्रीकी तेज गेंदबाज लुंगी एनगिदी ने कहा, हमें डीआरएस पर पूरा भरोसा है। इसी तकनीक का पूरी दुनिया में उपयोग किया जाता है। उन्होंने आगे कहा, यह उनकी निराशा को दिखाता है। हम मैदान पर इमोशन को देख सकते थे। यह उनके ऊपर दबाव को दिखाता है क्योंकि एल्गर और कीगन पीटरसन अच्छी साझेदारी कर रहे थे। वे इस साझेदारी को तोड़ना चाहते थे, इसलिए ऐसा हुआ। सभी लोग अलग तरह से किसी घटना पर प्रतिक्रिया देते हैं। हालांकि भारत की तरफ से प्रतिक्रिया अलग थी। प्रेस कॉन्फ्रेंस में जब भारतीय गेंदबाजी कोच पारस महाम्ब्रे से इस मामले पर पूछा गया तो उन्होंने कहा,आपने भी इसे देखा, हमने भी देखा, अब इसे मैच रेफरी पर छोड़ देते हैं। अब मैं इस पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता, चलिए मैच पर आगे बढ़ते हैं। जब महाम्ब्रे से पूछा गया कि क्या भारतीय खिलाड़ी ब्रॉडकास्टर पर आरोप लगा रहे हैं? उन्होंने कहा, मैदान पर सभी खिलाड़ी अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश कर रहे थे। कभी-कभी ऐसे मौकों पर कुछ लोग कुछ चीजÞें कह देते हैं। यह खेल है। अच्छा होगा कि हमें अब आगे बढ़ जाना चाहिए। कभी कभी खेल में इमोशन आ जाता है।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Leave A Reply

Your email address will not be published.