Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

यूपीआई और पेनाउ को जोड़ेगे भारत सिंगापुर

- Sponsored -

नयी दिल्ली : भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) और सिंगापुर मौद्रिक प्राधिकरण (एमएएस) ने अपने संबंधित त्वरित भुगतान प्रणालियों एकीकृत भुगतान इंटरफÞेस (यूपीआई) और पेनाउ को जोड़ने के लिए एक परियोजना की घोषणा की।
केन्द्रीय बैंक ने आज यहां जारी बयान में कहा कि इन दोनों को जोड़कर जुलाई 2022 तक परिचालन शुरू करने का लक्ष रखा गया है। यूपीआई पेनाउ को जोड़ने से दोनों त्वरित भुगतान प्रणालियों में से प्रत्येक के उपयोगकर्ताओं को अन्य भुगतान प्रणाली में शामिल होने की आवश्यकता के बिना पारस्परिक आधार पर तत्काल, कम लागत वाले निधि अंतरण करने में सक्षम बनाएगा।
यूपीआई पेनाउ जुड़ाव भारत और सिंगापुर के बीच सीमापारीय भुगतान के लिए बुनियादी ढांचे के विकास में एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर है और त्वरित, सस्ता और अधिक पारदर्शी सीमापारीय भुगतान को प्राथमिकता देने वाले जी20 की वित्तीय समावेशन के साथ निकटता से जुड़ा हुआ है। यह जुड़ाव एनपीसीआई इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड (एनआईपीएल) और नेटवर्क फॉर इलेक्ट्रॉनिक ट्रांसफर (एनईटीएस) के पहले के प्रयासों पर आधारित है, जो भारत और सिंगापुर के बीच कार्ड और क्यूआर कोड का उपयोग करके भुगतान की सीमापारीय अंतर-संचालनीयता को बढ़ावा देता है और दोनों देशों के बीच व्यापार, यात्रा और विप्रेषण को आगे बढ़ाएगा। यह पहल भुगतान प्रणाली विजन दस्तावेज 2019-21 में उल्लिखित सीमापारीय विप्रेषण के लिए कॉरिडॉर और शुल्कों की समीक्षा करने के आरबीआई के दृष्टिकोण के अनुरूप भी है।
यूपीआई भारत का मोबाइल आधारित, ‘त्वरित भुगतान’ प्रणाली है जो ग्राहकों को ग्राहक द्वारा बनाए गए वर्चुअल पेमेंट एड्रेस (वीपीए) का उपयोग करके चौबीसों घंटे तुरंत भुगतान करने की सुविधा प्रदान करता है। इससे प्रेषक द्वारा बैंक खाता विवरण साझा करने का जोखिम समाप्त हो जाता है। यूपीआई व्यक्ति से व्यक्ति (पी2पी) और व्यक्ति से व्यापारी (पी2एम) भुगतान दोनों के लिए सहायक है और साथ ही यह उपयोगकर्ता को पैसे भेजने या प्राप्त करने में सक्षम बनाता है।
पेनाउ ंिसगापुर की त्वरित भुगतान प्रणाली है जो सिंगापुर में भाग लेने वाले बैंकों और गैर-बैंक वित्तीय संस्थानों (एनएŸफआई) के माध्यम से खुदरा ग्राहकों के लिए उपलब्ध पीयर-टू-पीयर निधि अंतरण सेवा को सक्षम बनाता है। यह उपयोगकर्ताओं को केवल अपने मोबाइल नंबर, सिंगापुर एनआरआईसी/एफआईएन, या वीपीए का उपयोग करके सिंगापुर में एक बैंक या ई-वॉलेट खाते से दूसरे बैंक में तत्काल धन अंतरित करने और प्राप्त करने में सक्षम बनाता है।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply