Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

इंडिया ओपन बैडमिंटन:सायना, लक्ष्य और प्रणय दूसरे दौर में 

- Sponsored -

नयी दिल्ली : चौथी वरीयता प्राप्त भारत की सायना नेहवाल, तीसरी सीड लक्ष्य सेन और आठवीं सीड एचएस प्रणय ने इंडिया ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के दूसरे दौर में जगह बना ली है। यह टूर्नामेंट एचएसबीसी बीडब्ल्यूएफ वर्ल्ड टूर 500 टूर्नामेंट सीरीज का हिस्सा है। यहां इंदिरा गांधी स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स के केडी जाधव हॉल में चल रहे इस टूर्नामेंट में सायना ने बुधवार को अपनी प्रतिद्वंद्वी चेक गणराज्य की टेरेजा स्वाबिकोवा के दूसरे गेम में रिटायर हो जाने से दूसरे दौर में जगह बना ली। स्वाबिकोवा ने जब मैच छोड़ा तब सायना 18 मिनट तक चले मुकाबले में 22-20, 1-0 से आगे थीं। सायना का दूसरे दौर में हमवतन मालविका बंसोड़ से मुकाबला होगा। मालविका ने पहले दौर में हमवतन सामिया इमाद फारूकी को 34 मिनट में 21-18, 21-9 से पराजित किया। विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाले युवा लक्ष्य सेन ने मिस्त्र के अधम हातिम एलगामाल को 25 मिनट में 21-15 21-7 से हराया। लक्ष्य का अगला मुकाबला स्वीडन के फेलिक्स बर्स्टड से होगा। पुरुष वर्ग में प्रणय ने स्पेन के पाब्लो एबियन को 33 मिनट में 21-14, 21-7 से हराया। प्रणय का अगला मुकाबला हमवतन मिथुन मंजुनाथ से होगा जिन्होंने फ्रांस के अरनॉड मेर्कले को एक घंटे पांच मिनट तक चले मुकाबले में 21-16, 15-21, 21-10 से पराजित किया। दूसरे दिन के खेल का मुख्य आकर्षण जाहिर तौर पर होने वाला था कि चोट के कारण लम्बे समय बाद कोर्ट पर वापसी कर रहीं चौथी वरीयता प्राप्त सायना अपनी विरोधी स्वाबिकोवा के खिलाफ कैसा प्रदर्शन करेंगी। सायना ने अच्छी शुरुआत की और एक समय 7-2 की बढ़त ले ली। इसके बाद उन्होंने 16-10 की लीड के साथ अपनी स्थिति मजबूत कर ली। हालांकि इसके बाद स्वाबिकोवा ने अपनी रैलियों को नियंत्रित करना शुरू किया और दुनिया की नंबर-142 खिलाड़ी ने अगले नौ में से आठ अंक जीतकर गेम में खेल में पहली बार लीड ले ली। इसके बाद उन्होंने अपना पहला गेम प्वाइंट अर्जित किया। सायना खुद को मुश्किल स्थिति में महसूस कर रही थीं। लेकिन भारतीय ने अपने अनुभव का इस्तेमाल कर पहले स्कोर को बराबर किया और फिर अगले दो अंक जीतकर गेम को जीत लिया। मैच अच्छा चल रहा था लेकिन इसी बीच स्वाबिकोवा को दूसरे गेम के पहले ही प्वाइंट पर पीठ में चोट लग गई। वह अपने पैरों पर खड़ी भी नहीं हो पा रही थीं, इसी कारण उन्हें स्ट्रेचर पर बाहर ले जाया गया। सायना ने स्वाबिकोवा के इस तरह कोर्ट से जाने पर निराशा जाहिर की लेकिन साथ ही वह गुरुवार के लिए एक और मैच पाकर खुश थीं। सेना भी अपनी लय खोजने की कोशिश कर रही हैं। दाहिने घुटने की चोट के कारण वह पिछले महीने आयोजित विश्व चैंपियनशिप से बाहर हो गई थीं। एक सप्ताह पहले ही अभ्यास शुरू करने वाली सायना ने माना कि उन्हें मैच फिट होने के लिए थोड़ा और समय की जरूरत है। मैच के बाद सायना ने कहा, मुझे मैच प्रैक्टिस की जरूरत है। स्वाबिकोवा मुझे अच्छी फाइट दे रही थी लेकिन दुर्भाग्य से वह चोटिल हो गई और उसे हार माननी पड़ी। अब दूसरे दौर में साइना का सामना हमवतन मालविका बंसोड़ से होगा। बंसोड़, जिन्होंने हाल ही में हैदराबाद में आयोजित अखिल भारतीय सीनियर रैंकिंग मीट जीती थी।
ने फारूकी के खिलाफ शुरुआती गेम में रैलियों पर नियंत्रण रखने के दौरान संघर्ष किया।
फारुकी ने बांसोद को काफी परेशान किया और एक समय मैच पर नियंत्रण स्थापित करती नजर आ रही थीं लेकिन जब ऐसा लगा कि मैच हाथ से निकल जाएगा तब बाएं हाथ की इस नागपुर की लड़की ने आक्रामक होकर पहला गेम जीत लिया। दूसरा गेम तो हालांकि उनके लिए काफी आसान साबित हुआ। दिन के दूसरे हिस्से में, एबियन ने प्रणय के खिलाफ 6-2 की बढ़त बनाने में कामयाबी हासिल की थी लेकिन इसके बाद भारतीय खिलाड़ी अपने रंग में आये और लाइन स्मैश की बारिश शुरू कर केवल 33 मिनट में इस स्पेनिश खिलाड़ी को हराकर दूसरे राउंड में प्रवेश किया। प्रणय का अगला मुकाबला मिथुन से होगा, जिन्होंने कड़े मुकाबले के बाद मर्कले को हराया।
मिथुन को शुरुआती गेम में मेर्कले की खेल शैली को जानने में समय लगा। इसके बाद उन्होंने लंबी रैलियां खेलीं और मैच पर नियंत्रण हासिल किया। फ्रांस का उनका विरोधी हालांकि इतनी आसानी से हार नहीं मानने वाला था। उसने अपना संघर्ष जारी रखा और दूसरे गेम की शुरुआत अधिक आक्रमण के इरादे से की। उसने 10-5 की बढ़त बना ली। मिथुन ने हालांकि अपनी वापसी की और स्कोर 12-12 तक ले आए। इसके बाद कांटे का मुकाबला हुआ लेकिन मेर्कले ने छह अंक हासिल करते हुए मुकाबले को तीसरे गेम तक ढकेल दिया।निर्णायक मुकाबले में मिथुन के पास अधिक ऊर्जा थी और इसी का इस्तेमाल करते हुए उन्होंने एक घंटे और पांच मिनट में मुकाबला जीतकर दूसरे राउंड का टिकट कटा लिया। इसके अलावा स्पेन में बीते महीने आयोजित विश्व चैम्पियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाले भारत के युवा लक्ष्य सेन ने भी दूसरे राउंड में जगह बना ली है। पहली बार इस टूर्नामेंट में खेल रहे लक्ष्य ने लक्ष्य ने अधम हाटेम एलगामाल को 21-15, 21-7 से हराया। अगले दौर में उनका सामना स्वीडन के फेलिक्स से होगा।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.