Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

आयुर्वेद पर भारत और क्रोएशिया करेंगे सहयोग

- Sponsored -

नयी दिल्ली: भारत और क्रोएशिया ने पारंपरिक चिकित्सा प्रणालियों, विशेषकर आयुर्वेद के क्षेत्र में अनुसंधान एवं क्षमता निर्माण पर सहयोग करने का फैसला किया है।आयुष मंत्रालय ने शुक्रवार को यहां बताया कि भारत की पारंपरिक चिकित्सा प्रणालियों, विशेष रूप से आयुर्वेद के क्षेत्र में दोनों देशों के बीच अकादमिक सहयोग का मार्ग प्रशस्त करते हुए क्रोएशिया के साथ एक समझौता किया गया है।
इस समझौते पर बुधवार को ज्ञापन पर अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान (एआईआईए) और क्रोएशिया के क्वार्नर हेल्थ टूरिज्म क्लस्टर के बीच हस्ताक्षर किए गए।
समझौते पर आयुष मंत्रालय के आयुर्वेद सलाहकार डॉ. मनोज नेसारी ने विशेष सचिव (आयुष) प्रमोद कुमार पाठक और क्रोएशिया में भारत के राजदूत राज श्रीवास्तव की उपस्थिति में एआईआईए की ओर से समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। क्रोएशियाई पक्ष से, क्लस्टर के अध्यक्ष सहायक प्रोफेसर व्लादिमीर मोजेटिक, क्लस्टर के प्रबंधन बोर्ड के अध्यक्ष इरेना पेर्सिसिवाडिनोव और प्रबंधन बोर्ड के सदस्य प्रो. सैंड्रा जानकोविच, सैंड्रा मार्टिनिक और अन्ना मारिया लिब्रिक ने इस कार्यक्रम में भाग लिया। श्री पाठक के नेतृत्व में छह सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल इस सप्ताह की शुरुआत में पहले अंतर्राष्ट्रीय योग और आयुर्वेद सम्मेलन में भाग लेने के लिए क्रोएशिया की यात्रा पर गया था।
दोनों पक्ष चयनित संस्थानों के सहयोग से आयुर्वेद के क्षेत्र में अकादमिक गतिविधियां संचालित करेंगे। अनुसंधान पर निकट सहयोग और समन्­वय होगा, जिसमें अध्ययन डिजाइन और निष्पादन, आयुर्वेदिक सिद्धांतों और परंपराओं को आधुनिक चिकित्सा के साथ एकीकृत करने के लिए साक्ष्य-आधारित दिशा-निर्देश विकसित करना, व्याख्यान,कार्यशालाएं, सेमिनार और सम्मेलन आयोजित करना तथा आयुर्वेद पर ऐसी अन्य गतिविधियां समझौते में शामिल हैं।
डॉ. नेसारी ने कहा,‘‘यह अकादमिक अनुसंधान, नैदानिक ??और शैक्षिक गतिविधियों, चिकित्सा शिक्षा, प्रशिक्षण और दक्षता निर्माण को बढ़ावा देगा।’’ मंत्रालय ने यहां बताया कि क्रोएशिया के साथ समझौता ज्ञापन अन्य देशों के साथ भारत के संबंधों को मजबूत करने और शैक्षणिक अनुसंधान, नैदानिक ??और शैक्षिक गतिविधियों, चिकित्सा शिक्षा, प्रशिक्षण और कौशल विकास को बढ़ावा देने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply