Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

झारखंड में परीक्षा में फेल होने पर छात्रों ने शिक्षक को पेड़ से बांध कर पीटा

- Sponsored -

गोपीकांदर (दुमका): झारखंड की उपराजधानी दुमका के गोपीकांदर पहाड़िया आवासीय विद्यालय में नौवीं कक्षा के छात्रों के प्रायोगिक परीक्षाफल को लेकर उत्पन्‍न हुए विवाद ने हिंसक रूप ले लिया। सोमवार को स्कूल के नौवीं और 10वीं के छात्रों ने आवासीय विद्यालय के पूर्व प्राचार्य और वर्तमान में गणित के शिक्षक कुमार सुमन, प्रधान लिपिक सुनीराम चौड़े और अचिंतो कुमार मल्लिक को आम के पेड़ में बांधकर जमकर पीटा।छात्रों का कहना था कि शिक्षक कुमार सुमन ने प्रायोगिक परीक्षा में कम अंक दिए हैं, जिसके कारण 11 छात्र फेल हो गए। इधर जब इस घटना की सूचना गोपीकांदर प्रखंड के बीडीओ अनंत कुमार झा और प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी सुरेंद्र हेंब्रम तक पहुंची तो दोनों गोपीकांदर के थाना प्रभारी नित्यानंद भोक्ता व पुलिस बल के साथ विद्यालय पहुंचे और स्थिति को नियंत्रित किया। मामले में प्रखंड व पुलिस प्रशासन ने त्वरित पहल करते हुए चिह्नित दोनों कक्षाओं के तकरीबन 40 छात्रों को कक्षा से निष्कासित करते हुए इनके अभिभावकों को बुलाया है। वहीं घटना के बाद शिक्षकों के कहने पर शिक्षक व छात्रों के बीच समझौता कराकर स्थिति को सामान्य करने की भी पहल की गई।
गोपीकांदर के थाना प्रभारी नित्यानंद भोक्ता ने कि मारपीट की घटना में शिक्षक कुमार सुमन को आंशिक चोट आई है। छात्रों को कड़ी हिदायत दी गई है कि भविष्य में अगर ऐसी कोई भी घटना हुई तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। कहा कि छात्रों के 11 मोबाइल को भी अभिरक्षण में रखा गया है, जिसे इनके अभिभावकों को सौंपकर उन्हें छात्रावास में रहने वाले बच्चों को मोबाइल नहीं देने की हिदायत दी जाएगी।घटना के पीछे की मुख्य वजह जैक के परिणाम के आधार पर विद्यालय के नौवीं के कुल 36 में 11 छात्रों के अनुत्तीर्ण होना बताई जा रही है। अनुत्तीर्ण होने की जानकारी दिए जाने पर ही छात्र उग्र हो गए और शिक्षक व प्रधान लिपिक व एक अन्य को कोपभाजन बनाया। इधर, मौके पर पहुंचे बीडीओ ने इस मामले में स्कूल के एक-एक शिक्षकों एवं कर्मियों से जानकारी ली तो यह बात सामने आई कि छात्रों ने मारपीट कर शिक्षक कुमार सुमन को जख्मी कर दिया है। शिक्षक के सिर में भी चोट लगी है। चोटिल शिक्षक का प्राथमिक उपचार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गोपीकांदर में कराया गया है।
पड़ताल के क्रम में बीडीओ व अन्य अधिकारियों ने विद्यालय के छात्रावास का निरीक्षण भी किया, जिसमें छात्रों के लिए बनाए गए भोजन की मात्रा कम पाई गई। छात्रावास में कुल 248 छात्र नामांकित हैं। वर्तमान में 157 छात्र ही विद्यालय में पाए गए। इस मामले में जब छात्रावास प्रबंधक से पूछा गया तो उन्होंने कुल 248 छात्रों की भोजन व्यवस्था की बात कही, लेकिन कुल 157 छात्रों का ही भोजन बन पाया। वहीं विद्यालय में महिला शिक्षकों ने यहां शौचालय की व्यवस्था की मांग की।छात्रावास के निरीक्षण के दौरान नौवीं एवं दसवीं वर्ग के छात्रों के पास 13 मोबाइल पाए गए। इन सभी मोबाइलों को जब्त कर थाना प्रभारी नित्यानंद भोक्ता थाने ले गए। थाना ले कर चले गए। इस मामले में बीडीओ अनंत कुमार झा ने कहा कि विद्यालय में छात्रों और शिक्षकों के बीच तनाव की खबर मिली थी। पड़ताल के क्रम में जो गतिरोध सामने आई थी, उसके निदान का प्रयास किया जा रहा है। बताया जाता है कि पूर्व में भी शिक्षक कुमार सुमन और छात्रों के बीच विवाद हुआ था।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.