Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

इम्पैक्ट: ठेकेदार और अभियंता के मंसुबे होंगे नाकाम, एसपी ने किया एलएसयुएस क्वाटर निर्माण की जांच

- Sponsored -

 घटिया निर्माण की सरकार को करेंगे रिपोर्ट
रामप्रसाद सिन्हा
पाकुड़: जिला मुख्यालय के पुलिस केंद्र में बनाये जा रहे एलएसयुएस क्वाटर में की जा रही गड़बड़ी एवं सरकारी राशि की लुट में शामिल अभियंताओ एवं योजना के ठेकेदार के मंसुबे अब नाकाम होंगे। ऐसा इसलिए कि झारखंड पुलिस हाउसिंग कॉरपोरेशन द्वारा पुलिस केंद्र में बनाये जा रहे एलएसयुएस क्वाटर निर्माण के दौरान प्राक्कलन एवं डिजाइन से हटकर किये जा रहे कार्यो की जांच खुद एसपी मणिलाल मंडल ने सोमवार को किया। सन्मार्ग लाइव में छपी खबर के बाद क्वाटर निर्माण कार्य की देखरेख कर रहे झारखंड पुलिस हाउसिंग कॉरपोरेशन एवं योजना के संवेदक एनपीसीसी के अभियंताओ में हड़कंप मच गया है। मामला संज्ञान में आते ही एसपी मणिलाल मंडल योजना स्थल का निरीक्षण करने पहुंचे। एसपी श्री मंडल ने योजना स्थल पर मौजूद झारखंड पुलिस हाउसिंग कॉरपोरेशन एवं योजना के संवेदक एनपीसीसी के अभियंताओ से पुछताछ की। निरीक्षण के दौरान प्राक्कलन में दिये गये छड़ एवं ईट आदि को लेकर एसपी ने अभियंताओ से जानकारी लिया और छत ढलाई में लगाये गये छड़ की जांच की। जांच के दौरान अभियंताओ द्वारा छत ढलाई में लगाये गये 16 एवं 12 एमएम छड़ के बारे में बताया। एसपी ने क्वाटर निर्माण में उपयोग में लाये गये ईट की भी जांच की और अच्छे क्वालिटी का ईट लगाने का निर्देश दिया। निरीक्षण के दौरान 20 एमएम के बदले 16 एमएम एवं 16 एमएम के बदले 12 एमएम का छड़ लगाये जाने को लेकर एसपी ने अभियंताओ को लगाये गये छड़ को हटाकर प्राक्कलन में निहित छड़ लगाने का निर्देश दिया। एसपी ने निरीक्षण के क्रम में गुणवत्ता के साथ किसी तरह का समझौता नही करने का भी निर्देश अभियंताओ को दिया। निरीक्षण के उपरांत एसपी श्री मंडल ने बताया कि कॉलम में जो छड़ का प्रोवीजन दिया गया है उसे छत ढलाई के दौरान नही लगाया गया है। एसपी ने बताया कि अधिक प्रोफिट के कारण ठेकेदार द्वारा ऐसा किया गया है। इस्टीमेट से डिवेसियन करके काम किया गया है जिसकी रिपोर्ट सरकार से की जायेगी।
Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply