Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

निरसा में अवैध उत्खनन के दौरान तीन स्थानों पर धंसी चाल, दर्जन से अधिक लोगों की मौत, कई दबे

- Sponsored -

चाल धंसने की खबर क्षेत्र में आग की तरह फैली, कोयला तस्करों में मचा हड़कंप:-

विजय सिंह

धनबाद/एग्यारकुंड: अवैध कोयला तस्करी की छूट ने अंतत: भूचाल ला ही दिया। निरसा क्षेत्र के विभिन्न इलाकों में हो रहे अवैध उत्खनन के दौरान मंगलवार को अलग अलग तीन स्थानों पर चाल धंसने से एक दर्जन से अधिक लोगों की मौत हो गई है,वही कइयों के मलबे के नीचे दबे होने की आशंका जताई जा रही है। घटना की खबर पूरे क्षेत्र में आग की तरह फैल गई,जिससे कोयला तस्करों में हड़कंप मचा है, हालांकि पुलिस, बीसीसीएल व इसीएल प्रबंधन द्वारा घटना में मौत की पुष्टि नहीं की गई है। निरसा डीएसपी पीतांबर खैरवार ने घटना की सूचना के आलोक में निरीक्षण किए जाने की बात कही है। वही पूर्व विधायक सह जेबीसीसीआई सदस्य अरूप चटर्जी ने घटनास्थल का जायजा लेते हुए दर्जन भर से अधिक की मौत होने की बात कही है।

पहली घटना गोपीनाथपुर ओसीपी में घटी:

- Sponsored -

सूचना के अनुसार पहली घटना निरसा थाना क्षेत्र के गोपीनाथपुर ओसीपी में घटी जहां प्रतिदिन की भांति मंगलवार की अहले सुबह सैकड़ों की संख्या में आस पास के ग्रामीण कोयला उत्खनन करने अवैध खदान में उतरे और कोयला काटने के क्रम में उपर से कई टन भारी चाल गिरने से उसके नीचे दबकर 5 लोगों की मौत हो गई वही कई लोग मलबे के नीचे दब गए। घटना के बाद अफरा तफरी मच गई, ग्रामीण किसी तरह कुछ मृतकों के शव निकाल ले भागे,वही कइयों के अभी भी मलबे में दबे होने की आशंका जताई गई। सूचना पाकर निरसा डीएसपी,इसीएल प्रबंधन और पूर्व विधायक अरूप चटर्जी घटनास्थल पर पहुंच स्थिति का जायजा लिया। पूर्व विधायक के दवाब में घंटो बाद रेस्क्यू आॅपरेशन शुरू किया गया।

कापासारा आउटसोर्सिंग के शियालकनाली में 5 लोगों की मौत, आधा दर्जन घायल:

दूसरी घटना निरसा के इसीएल मुगमा क्षेत्र अंतर्गत कापासारा आउटसोर्सिंग के शियालकनाली में घटी जहां सैकड़ों लोगों द्वारा अवैध उत्खनन किया जा रहा था की अचानक चाल धंसने से मलबे में दबकर 5 लोगों की मौत हो गई वही कई लोग दब गए,घटना के बाद कोयला चोरों के बीच हड़कंप मच गया, अफरा तफरी के माहौल में लोग भागने लगे। इसी बीच अवैध उत्खनन करने वाले सहयोगी कई मृतकों का शव उठा ले भागे।

बीसीसीएल के दहीबाडी में 3 की मौत, कई घायल:

- Sponsored -

तीसरी घटना पंचेत थाना क्षेत्र स्थित बीसीसीएल दहीबाडी कोलियरी के बंद पड़े सी पैच में चाल धंसने से मौके पर ही तीन लोगों की मौत हो गई वही कई घायल हो गए जिसे कोयला उत्खनन कर रहे ग्रामीण अपने साथ ले भागे।

बाहरी मजदूरों को मंगाकर कराया जा रहा कोयला उत्खनन

आउटसोर्सिंग परियोजना में अवैध ढंग से कोयला उत्खनन कराने के लिए कोयला सिंडिकेट द्वारा दूसरे स्थानों से मजदूरों को बुलाया जाता है जिसकी कोई पहचान नहीं होती। आसपास के ग्रामीण भी उसे नही पहचानते। ऐसे में जब दुर्घटना घट जाती है तो मजदूर मंगाने वाले तस्कर सिंडिकेट चुप्पी साध लेते हैं।

घटना से पूरे निरसा क्षेत्र में दर्जन भर से अधिक मौत हुई है: पूर्व विधायक अरूप चटर्जी

घटना के संबंध में पूर्व विधायक अरूप चटर्जी ने कहा कि गोपीनाथपुर में अहले सुबह चाल धंसी है जिसमें तीन शव को निकाला जा चुका है पता चला है कि मृतक में 7 लोग है और भी हम समझते हैं कि और भी कुछ लोग हैं जिनका नाम पता मालूम नहीं चला है। 8-10 लोग मलबे के नीचे दबा मिलेंगे, यदि मलवा हटाया गया तो, कापासारा कोलियरी में भी तीन आदमी दब के मर गया, यहां बीसीसीएल एरिया12 के दहीबाड़ी सी पैच है वहां भी सुबह 3 लोग दब कर मर गए, करीब करीब हम समझते हैं कि पूरे निरसा क्षेत्र में करीब 20 लोग माइंस में चाल धसने से दबकर मर गए हैं,जो बहुत बड़ी घटना है, कोयले के अवैध तस्करी को लेकर लोगों की जान की कीमत आज कुछ नहीं है। कहा की उन्होंने पुलिस प्रशासन सहित धनबाद उपायुक्त को सूचना दी लेकिन घंटो बाद भी रेस्क्यू आॅपरेशन चालू नहीं हुआ,जो सबसे दुर्भाग्य की बात है। यह जितने भी चीजें हैं सार्वजनिक है इन पर रोक लगनी चाहिए ,लोगों की जान की कीमत से ज्यादा कुछ नहीं होनी चाहिए।

रेस्क्यू आॅपरेशन के बाद ही कुछ पता चल पाएगा:डीएसपी

निरसा अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी पीतांबर सिंह खेरवार ने कहा कि घटना को लेकर ईसीएल प्रबंधन से लागातार संपर्क कर रहे हैं उनसे संपर्क किया भी गया है। सीओ साहब यहां उपस्थित हैं। रेस्क्यू आॅपरेशन के बाद ही कुछ पता चल पाएगा। स्थानीय लोग भी अपने जलावन के लिए कोयला चोरी करते होंगे लेकिन जहां भी हमें इस तरह का पता चलता है तो इसीएल के सुरक्षा टीम के साथ हम लोग भराई का काम करते हैं और पकड़े जाने पर कार्रवाई भी की जाती है

सूचना पर गोपीनाथपुर घटनास्थल पर पहुंची निरसा विधायक अपर्णा सेनगुप्ता ने कहा की इतने बड़े रूप में चल रहे अवैध उत्खनन के लिए अब कुछ भी शब्द नही बचे, सबकुछ समक्ष है। इस सरकार से इससे बढ़कर और क्या उम्मीद की जा सकती है। मेरी जिला पुलिस प्रशासन से मांग है की घटना के पीछे जो भी लोग जिम्मेवार है उन पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई हो।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.