Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

‘वायु प्रदूषण के प्रमुख स्रोतों एवं हॉटस्पॉट को चिन्हित करना क्लीन एयर एक्शन प्लान के लिए बेहद जरूरी’

सीड ने विभिन्न स्टेकहोल्डर्स के बीच क्षत्रीय सहयोग मजबूत करने के लिए वेबिनार का किया आयोजन
रांची : सेंटर फॉर एनवायरनमेंट एंड एनर्जी डेवलपमेंट (सीड) ने सोमवार को रांची, रामगढ़ और हजारीबाग जिलों में स्वच्छ वायु के मुद्दे पर कार्य कर रहे स्थानीय सिविल सोसाइटी संगठनों, अकादमिक विशेषज्ञों, रिसर्च-थिंक टैंक, मीडियाकमिर्यों सहित विभिन्न स्टेकहोल्डर्स को एक मंच पर लाते हुए एक वेबिनार का आयोजन किया। इसका मुख्य उद्देश्य इन जिलों में बेहतर वायु गुणवत्ता के समग्र लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए व्यावहारिक समाधानों पर चर्चा करना था। क्लीन एयर इम्प्लीमेंटेशन नेटवर्क (कैन) के तत्वावधान में आयोजित इस परिचर्चा का मुख्य उद्देश्य इन जिलों में वायु प्रदूषण के प्रमुख स्रोतों एवं केंद्रों (हॉटस्पॉट) को चिन्हित करना, इनके दीर्घकालीक प्रभावों एवं गड़बड़ियों पर नजर रखना और स्वच्छ हवा को सुनिश्चित करने के लिए स्थानीय लोगों एवं समुदायों की आकांक्षाओं को सामने लाना था। इस मौके पर सीड में सीनियर प्रोग्राम अफसर अंकिता ज्योति ने कहा कि वायु प्रदूषण के कारण होने वाले जोखिम को कम करने के लिए मल्टी स्टेकहोल्डर्स एप्रोच जरूरी है ताकि सभी एजेंसियों एवं संगठनों के बीच समन्वय एवं क्षमता-निर्माण गतिविधियों से मूल्यांकन और कार्यदक्षता की गति बढ़ सके। क्लीन एयर इम्प्लीमेंटेशन नेटवर्क आम नागरिकों से लेकर सभी प्रमुख स्टेकहोल्डर्स के बीच स्वच्छ हवा पर जन-जागरूकता बढ़ाने की दिशा में सक्रियता से काम कर रहा है और आज की चर्चा राज्य में एक स्वस्थ पर्यावरण सुनिश्चित करने के लिए इन प्रयासों को मजबूत करेगी। वेबिनार में रांची, रामगढ़ और हजारीबाग के प्रतिष्ठित सिविल सोसाइटी संगठनोंऔर नागरिक समूहों आदि 35 से अधिक प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

Looks like you have blocked notifications!

Leave a Reply