Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

बढ़ी सोरेन परिवार की मुसीबतें,रवि केजरीवाल बन सकते हैं ED के सरकारी गवाह !

- Sponsored -

IMG 20220516 WA0011

राहुल कुमार
रांची: पिछले एक सप्ताह से लगातार झारखंड की सीनियर आईएस अधिकारी पूजा सिंघल सुर्खियां बटोर रही हैं. ईडी की ताबड़तोड़ छापेमारी जारी है. लेकिन अब खबरों की बाजार ने अपना एंगल बदल लिया है. दरसल ईडी प्रकरण में रवि केजरीवाल की एंट्री हुई है. रवि केजरीवाल वही शख्स है जो कभी सोरेन परिवार के आँखों के तारा हुआ करते थे. हेमंत की सरकार बनी तो वही रवि केजरीवाल सोरेन परिवार की आँखों में कांटें की तरह चुभ रहे हैं. पुख्ता सूत्रों का कहना है कि रवि केजरीवाल ईडी की मदद करने के लिए तैयार हो गए हैं. और जल्द ही सरकारी गवाह बन सकते हैं.

- Sponsored -

रवि केजरीवाल को सरकारी गवाह बना सकती है ईडी
सरकार बनने के बाद ही रवि केजरीवाल को 6 वर्ष के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया गया था. यह बातें खुल कर सामने आ गई थी कि सोरेन परिवार से केजरीवाल परिवार रिश्तों के बीच तल्खियां आ गई थी. केजरीवाल पर बीते साल सरकार गिरने के भी आरोप लगा था और कांग्रेस विधायक अनूप सिंह ने रांची के कोतवाली थाने में एफआईआर भी दर्ज कराया था. केजरीवाल जब सोरेन परिवार के हिस्सा थे और जेएमएम के करीबी थे तब इनपर बीजेपी हमेशा आरोप लगाती रहती थी कि सोरेन परिवार के अवैध की कमाई रवि केजरीवाल ही शेल कंपनियों के माध्यम से वैध बनाने का काम करते थे. रघुबर सरकार के दौरान इन शेल कंपनियों में पैसा लगाए जाने का मामला झारखंड हाईकोर्ट में सामने आया था. याचिकाकर्ता मरहूम इंद्रनील सिन्हा ने 2013 में पीआइएल दाखिल किया था. लेकिन कोर्ट ने इसे खारिज कर 50 हजार का जुर्माना लगया था. यह वही पीआइएल है जिसके बारे में महाधिवक्ता ने मीडिया के सामने कहा था कि इसी पीआईएल के कागजातों का इस्तेमाल एक बार फिर से अधिवक्ता राजीव कुमार इस्तेमाल कर आय से अधिक सम्पत्ति का मामला हाईकोर्ट में लाया गया है.

जाने कौन है रवि केजरीवाल
जिस रवि केजरीवाल पर सरकार गिराने का आरोप हेमंत सरकार गिराए जाने का आरोप लगया जाता रहा है. वो कभी सोरेन परिवार का लाडला हुआ करता था. रांची से पहले बोकारो से ही इन दोनों परिवारों के बीच अटूट रिश्ता था. शिबू सोरेन से लेकर घर का कोई भी ऐसा नहीं होगा जो रवि केजरीवाल को ना जानता हो. लेकिन बीच में कुछ ऐसा हुआ कि 4 अगस्त 2020 को जेएमएम ने पार्टी से रवि केजरीवाल को छह साल के लिए बाहर निकाल दिया. जब सूबे में बीजेपी की सरकार थी, तो रवि केजरीवाल पर हमेशा ही आरोप लगाया जाता रहा कि वो सोरेन परिवार के लिए फंड जुटाने का काम करते थे. लेकिन अब उसी बीजेपी के साथ मिलकर कभी सोरेन परिवार के खास रहे रवि केजरीवाल पर जेएमएम की सरकार को गिराने का आरोप लग रहा है.

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.