Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

भोजपुरी, मगही पर हेमंत का बयान निंदनीय, बिहार का अपमान : सुशील मोदी

- Sponsored -

पटना 14 सितंबर(वार्ता) बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी ने भोजपुरी और मगही के खिलाफ झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के बयान की निंदा करते हुए कहा कि सोरेन सरकार में शामिल कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) को भाषा के सवाल पर अपना रुख साफ करना चाहिए।

श्री मोदी ने मंगलवार को सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर ट्वीट कर कहा कि झारखंड सरकार के मुखिया हेमंत सोरेन ने मगही-भोजपुरी के विरुद्ध बोल कर जो भाषाई असहिषणुता प्रकट की, वह एक संवैधानिक पद पर बैठे व्यक्ति के लिए सर्वथा अनुचित, अशोभनीय और निंदनीय है। उन्होंने कहा कि ऐसी शर्मनाक टिप्पणी के लिए हिंदी दिवस को चुनना बिहार और सभी हिंदी प्रेमियों का अपमान है।

भाजपा सांसद ने कहा कि भोजपुरी बोलकर वोट लेने वाले श्री लालू प्रसाद बतायें कि क्या वे हेमंत सोरेन के बयान का समर्थन करते हैं। उन्होंने कहा कि सोरेन सरकार में शामिल कांग्रेस और राजद को भाषा के सवाल पर अपना रुख साफ करना चाहिए।

श्री मोदी ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र जैसे वैश्विक मंच पर सबसे पहले अटल बिहारी वाजपेयी ने हिंदी में भाषण किया और वर्ष 2014 से भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सभी अन्तरराष्ट्रीय मंचों पर हिंदी में संवाद कर राष्ट्रभाषा का मान बढा रहे हैं। उन्होंने कहा कि बिहार पहला राज्य है, जिसने सभी भाषाओं-बोलियों को साथ लेकर चलने वाली हिंदी को आधिकारिक राजभाषा के रूप में स्वीकार किया।

भाजपा सांसद ने कहा कि एनडीए सरकार के समय संसद में हिंदी बोलने वालों की संख्या बढी और प्रधानमंत्री श्री मोदी ने मेडिकल-इंजीनियरिंग जैसे 11 तकनीकी विषयों की पढाई मातृभाषा में शुरू करने की नीति इसी सत्र से लागू की। उन्होंने कहा कि हिंदी और सभी भारतीय भाषाओं का हित इस समय राजनीतिक रूप से सबसे समर्थ हाथों में सुरक्षित है।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply