Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

हेड फोन लगा रेलवे ट्रैक पर बैठे किशोर की ट्रेन से कटकर हुई मौत

- Sponsored -

सीमा विवाद को लेकर चार घंटो तक यथावत पड़ा रहा शव
धनबाद/बाघमारा। गोमो आद्रा रेलखंड अंतर्गत आमडीह के समीप पोल संख्या 349 बीजी 5 व बीजी4 के बीच बुधवार सुबह लगभग आठ बजे आनंद विहार हल्दिया एक्सप्रेस ट्रेन की चपेट में आने से एक किशोर की मौत हो गयी। घटना की जानकारी पाकर जुटी भीड़ ने मृतक की पहचान हरिहरपुर थाना क्षेत्र के कुबरी आमतांड (खरियो) निवासी हाबु रजवार के 15 वर्षीय पुत्र श्रीकांत रजवार के रुप में किया। सूचना पाकर तोपचांची इंस्पेक्टर, महुदा आरपीएफ के ओसी जीके सिंह, हरिहरपुर थाना प्रभारी योगेश कुमार महतो,बाघमारा थाना प्रभारी सूबेदार कुमार यादव तथा बरोरा थाना प्रभारी बंधन तिर्की घटनास्थल पर पहुंचे। इस दौरान सीमा विवाद को लेकर पुलिस पदाधिकारियों के बीच काफी खींचतान हुई। अंत में बरोरा थाना में मृतक के पिता के लिखित शिकायत पर यूडी कांड अंकित किया गया। इस दौरान घटना के लगभग चार घंटे तक शव घटनास्थल पर पड़ा रहा। परिजनों तथा ग्रामीणों की फरियाद किये जाने के बाद शव को बिना पोस्टमार्टम किये परिजनों को सुपुर्द कर दिया। घटना के बाद से मृतक के घर में कोहराम मच गया। परिजनों के करुण केन्द्रन से माहौल गमगीन हो गया था।
दो हिस्से में बंट गया किशोर का शव
ग्रामीणों ने बताया कि सुबह लगभग आठ बजे गोमो से महुदा की ओर जा रही आनंद विहार हल्दिया एक्सप्रेस के चालक द्वारा काफी देर तक हॉर्न बजाया गया। जब तक ग्रामीण कुछ समझ पाते अचानक ट्रेन रुक गयी। जिसके बाद पता चला कि एक किशोर का शव ट्रेन के काटने से दो हिस्सों में बंट गया है। दस मिनट में बाद ट्रेन गंतव्य की ओर रवाना हो गया। ग्रामीणों ने कहा कि युवक मंदबुद्धि था। अक्सर रेलवे ट्रेक में बैठकर हैड फोन लगाकर मोबाइल से गाना सुनता था। लोगों ने आशंका व्यक्त किया कि घटना के समय भी हेड फोन का इस्तेमाल कर रहा होगा,जिस कारण ट्रेन की आवाज सुनाई नहीं पड़ी होगी।
सीमा विवाद को लेकर चार घंटा पड़ा रहा शव
घटना की जानकारी पाकर मौके पर पहुंची हरिहरपुर,बाघमारा तथा बरोरा थाना की पुलिस के बीच सीमा विवाद को लेकर खींचतान होने लगी। सभी एक दूसरे के थाना क्षेत्र में घटनास्थल होने को लेकर आरोप प्रत्यारोप लगा रहे थे। यहां तक कि स्थानीय ग्रामीणों से पूछताछ के साथ साथ थाना के सिरिस्ता से नक्शा भी मंगवा लिया गया। इससे भी जब समस्या का समाधान नहीं हुआ तो खरियो,खानुडीह तथा निचितपुर दो पंचायत के मुखियाओं को बुलवाया गया। अंत में घटनास्थल बरोरा थाना क्षेत्र में होने की बात कहते हुए कागजी प्रक्रिया शुरु किया गया। इस दौरान चार घंटे तक शव उसी अवस्था में पड़ा रहा।
क्या कहते है थाना प्रभारी
इस संबंध में बरोरा थाना प्रभारी बंधन तिर्की ने कहा कि सीमा क्षेत्र को लेकर स्पष्ट जानकारी नहीं रहने के कारण विलंब हुआ। फिलहाल शव का पंचनामा करा परिजनों को सौंप दिया गया।
2 Attachments
Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply