Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

कोरोना की तीसरी लहर में बच्चों को बचाने के लिए सरकार की कवायद तेज

गहन जांच अभियान में 28 बच्चे पाये गये कोरोना संक्रमित
रांची : झारखंड सरकार की ओर से चलाये जा रहे गहन जांच अभियान के तहत 6 दिनों में ग्रामीण क्षेत्रों के 88547 लोगों की कोरोना जांच हुई है। इसमें 776 लोग संक्रमित पाए गए हैं जिनमें 28 बच्चे शामिल हैं। ऐसी आशंका जताई जा रही है कि कोरोना की तीसरी लहर में सबसे ज्यादा बच्चे प्रभावित होंगे। सरकार ने बच्चों के अधिकाधिक संक्रमण की संभावना को देखते हुए उससे निबटने की तैयारी तेज कर दी है। स्वास्थ्य विभाग के आईईसी के वरीय प्रभारी सिद्धार्थ त्रिपाठी ने बताया कि इसके तहत राज्य के सभी जिलों में अवस्थित कोविड डेजिग्नेटेड अस्पताल (जिला कोविड अस्पताल) में बच्चों के 20 बेड का आईसीयू बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इसके साथ ही सिविल सर्जन से जरूरी मेडिकल उपकरण की जानकारी भी मांगी गई है कि उन्हें किन-किन चीजों की जरूरत है। इसके साथ ही सभी जिले में 6 स्वास्थ्यकर्मियों को बच्चों की देखभाल के लिए विशेष प्रशिक्षण दिया जाएगा। इनमें 2 एक्सपर्ट, 2 डॉक्टर और 2 नर्स शामिल हैं। सिद्धार्थ त्रिपाठी ने बताया कि अभी तक झारखंड में बच्चों में संक्रमण गंभीर लेवल पर नहीं हुआ है। इसके लिए सरकार राज्य के अलग-अलग चाइल्ड स्पेशलिस्ट हॉस्पिटल से भी जानकारी जुटा रही है कि उनके यहां किस प्रकार से पीड़ित बच्चे सबसे अधिक आ रहे हैं। राज्य के चिल्ड्रेन हॉस्पिटल से डेटा मंगाकर उसका अध्ययन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि तीसरी लहर कब आएगी इसका पता नहीं है। ललेकिन सरकार हर स्थिति से निबटने को तैयार है। राज्यवासियों को किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं होगी।

Looks like you have blocked notifications!

Leave a Reply