Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

अनुबंधीय स्वास्थ्य कर्मियों ने सीएस के खिलाफ खोला मोर्चा

- Sponsored -

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों के सामने बैठे धरना पर
राम प्रसाद सिन्हा
पाकुड। झारखण्ड  एनआरएचएम,एएनएम,जीएनएम अनुबंध कर्मचारी संघ ने अपने मांगो के समर्थन में सिविल सर्जन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।संघ  से जुड़े  अनुबंधीय कर्मी आज सुबह 7 बजे से ही अपने अपने प्रखंडों के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों के निकट धरना शुरू कर दिया है।धरना पर बैठे  ये सभी स्वास्थ्य कर्मी तीन माह के बकाया वेतन का भुगतान करने,अनुबंधीय स्वास्थ कर्मियों को रविवासरीय अवकाश देने,कोविड वेक्सिनेशन में शामिल सभी कर्मियों को नाश्ता भोजन देने की मांग को  कर रहे हैं।

- Sponsored -

- Sponsored -

इन स्वास्थ्य कर्मियों के धरना पर बैठ जाने की वजह से खासकर कोविड वेक्सिनेशन पर  असर पड़ा है।जिला मुख्यालय में धरना का नेतृत्व कर रही संघ  की जिलाध्यक्ष मारशिला टुडू ने कहा कि अपनी मांगों को लेकर डीसी सीएस सभी का ध्यान खींचा गया लेकिन कोई कार्रवाई  नही हुई।संघ की जिलाध्यक्ष ने कहा कि रविवार का अवकाश देना पड़ेगा जो हमारा हक है।वही जयंती साधु ने कहा कि कोविड वेक्सिनेशन के साथ ही विभाग का सभी काम कर्मी कर रहे बावजूद हमे रविवार की छुट्टी नही दी जा रही।
उन्होंने कहा कि हमारे भी बाल बच्चे  है और सप्ताह में एक दिन की  छुट्टी चाहिए।जयंती साधु ने कहा कि पर्व त्योहारों  के समय भी ड्यूटी लिया गया लेकिन आश्वाशन के बाद भी रविवार को काम लिया जा रहा है जो अब बर्दास्त नहीं किया जाएगा।स्वस्थ कर्मियों के धरना पर चले जाने पर सीएस  डॉ  रामदेव पासवान ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग आकस्मिक विभाग है और ड्यूटी करनी पड़ेगी.।
सिविल सर्जन ने बताया कि सभी स्वास्थ कर्मियों का वेतन अप टु डेट है।डॉ पासवान ने बताया कि कोविड वेक्सीनेसन में लगे स्वास्थ्य कर्मियों को  भोजन नाश्ता  भी उपलब्ध कराया जा रहा है। जिले के सभी प्रखण्डों  में अनुबंध पर बहाल स्वास्थ्य कर्मियो के धरना  में हिस्सा लेने की वजह से नियमित टीकाकरण, कोविड वेक्सिनेशन सहित ग्रामीण क्षेत्रो  की सवास्थ्य संबंधी सभी गतिविधियां प्रभावित हुई हैं
Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.