Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

रांची के पूर्व सांसद सुबोधकांत सहाय के बिगड़े बोल, पीएम मोदी को को लेकर कहा- हिटलर के रास्ते चले तो…

- Sponsored -

नई दिल्ली : अग्निपथ विवाद में कांग्रेस ने अब जर्मनी के नाजी तानाशाह रहे एडोल्फ हिटलर का जिक्र कर जुबानी जंग को और तेज कर दिया है। राहुल व सोनिया गांधी के बाद अब कांग्रेस नेता सुबोधकांत सहाय ने पीएम नरेंद्र मोदी पर सीधा हमला बोला। पूर्व केंद्रीय मंत्री सहाय ने मोदी की तुलना हिटलर से करते हुए आपत्तिजनक बातें कहीं।
सहाय ने यह बातें कांग्रेस नेताओं व कार्यकतार्ओं को संबोधित करते हुए कहीं। वरिष्ठ कांग्रेस नेता सहाय ने पीएम के खिलाफ असंसदीय भाषा का इस्तेमाल किया। सहाय ने कहा कि हिटलर ने भी ऐसा ही एक संस्था बनाई थी उसका नाम था खाकी। सेना के बीच से उसने ये संस्था बनाई थी। सहाय की टिप्पणी पर बवाल मच गया है। भाजपा नेताओं ने कड़ी आलोचना करते हुए सोनिया व राहुल गांधाी पर निशाना साधा है।
पीएम के खिलाफ आपत्तिजनक व असंसदीय टिप्पणी करने पर भाजपा प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने कड़ी नाराजगी प्रकट की है। उन्होंने कांग्रेस को लताड़ा है। पूनावाला ने कहा कि कांग्रेस ने अपने नेताओं की आलोचना या निंदा इसलिए नहीं की, क्योंकि सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने ही उन्हें इस तरह से अपमानजनक टिप्पणियां करने के लिए उकसाया है।
छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता रमण सिंह ने भी कहा कि सुबोध कांत सहाय की टिप्पणी को गांधी परिवार का मौन समर्थन था।
हालांकि, सहाय के विवादित बयान से कांग्रेस ने किनारा कर लिया है। पार्टी के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने कहा कि बयान से कांग्रेस का संबंध नहीं है। सहाय की टिप्पणी को लेकर जब एक न्यूज चैनल ने राकांपा नेता माजिद मेमन से सवाल किया तो उन्होंने कहा कि वह हर नेता की टिप्पणियों पर अपनी राय नहीं दे सकते। वह उनकी खुद की राय हो सकती है।
बयान पर विवाद के बाद सुबोधकांत सहाय ने तुरंत अपने बयान पर सफाई दी। उन्होंने कहा कि अगर नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री है तो उन्हीं की नीतियों पर सवाल पूछा जाएगा। हिटलर वाले बयान पर सहाय ने कहा कि वे उसके नक्शे पर चल रहे हैं। उन्होंने जो बात कही वह कहावत है।
सहाय से पहले महाराष्ट्र के कांग्रेस नेता शेख हुसैन ने पीएम के खिलाफ अभद्र टिप्पणी की थी। इस मामले में नागपुर के पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज की गई है। शेख हुसैन के खिलाफ भाजपा ने शिकायत दर्ज कराई थी। हुसैन के खिलाफ नागपुर के गिट्टीखदान पुलिस थाने में 14 जून को भारतीय दंड विधान की धारा 294 (अश्लील कृत्य और गाने) और धारा 504 आईपीसी (शांति भंग करने के इरादे से जानबूझकर अपमान) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.