Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

पूर्व सांसद भुवनेश्वर प्रसाद मेहता ने डीसी को लिखा पत्र

- Sponsored -

त्रिपक्षीय वार्ता के माध्यम से उपायुक्त आंदोलन को कराये समाप्त
हजारीबाग :हजारीबाग के पूर्व सांसद भुवनेश्वर प्रसाद मेहता ने हजारीबाग के उपायुक्त को 7 अक्टूबर को पत्र लिखा है। श्री मेहता ने उपायुक्त से पत्र में कहा है कि बानादाग साईडिंग में पिछले 5 अक्टूबर से महाआंदोलन पर बैठे है। आज तक जिला का कोई वरीय पदाधिकारी रैयतों से वार्ता करने नहीं पहुंचे है, जिससे ग्रामीणों में आक्रोश है। उपायुक्त रैयत, एनटीपीसी कंपनी और प्रशासन त्रिपक्षीय वार्ता करें और महाआंदोलन को समाप्त करने का प्रयास करें। श्री मेहता ने कहा है कि रैयत 21 सूत्री मांगों को लेकर महाआंदोलन कर रहे है। मैंने एक माह पूर्व त्रिवेणी सैनिक कंपनी, एनटीपीसी कंपनी को पत्र दिया था, लेकिन समस्या के समाधान पर कोई ध्यान नहीं दिया गया। बानादाग साईडिंग से पिछले छह वर्षो से कोयला ढुलाई का कार्य अनवरत जारी है। कुछ लोगों को जिसमें अधिक बाहरी को रोजगार दिया गया। कुछ रैयतों को जमीन के बदले मुआवजा दिया गया, जिसकी संख्या बहुत ही कम है। बानादाग साईडिंग की ओर कंपनी से रैयतों से वायदा किया था कि प्रभावित गांव में शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, पेयजल सहित अन्य सुविधाएं मुहैया कराई जायेगी, लेकिन कोई संसाधन उपलब्ध नहीं हो पाया और न ही समस्या का निवारण किया गया। अंत में हजारों की संख्या में महिला-पुरूष महाआंदोलन करना शुरू कर दिया। महाआंदोलन की पहली वार्ता प्रशासन की ओर से छह अक्टूबर का हुआ, जिसमें भी आंदोलनकारियों के साथ विश्वासघात किया गया।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.