Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

दुष्कर्म के मामले में मंत्री का पूर्व चालक गिरफ्तार

- Sponsored -

जमशेदपुर। झारखंड प्रदेश के एक मंत्री का पूर्व चालक प्रद्युत कुमार सिंह उर्फ मुन्ना सिंह को कदमा थाना की पुलिस ने शादी का झांसा देकर महिला से यौन शोषण करने के मामले में गिरफ्तार कर लिया हैं। पूछताछ के बाद उसे जेल भेज दिया। आरोपी के खिलाफ कदमा थाना में न्यायालय के आदेश पर विगत 14 जून को प्राथमिकी दर्ज की गई थी। उसके खिलाफ दर्ज मामले की जांच मुख्यालय दो के डीएसपी कमल किशोर कर रहे थे। जांच के एक माह के बाद आरोपी पर कार्रवाई की गई। गिरफ्तारी से पहले आरोपी महिला को मोबाइल पर कॉल कर और घर आकर केस उठा लेने की धमकी दे रहा था। रुपये देने का प्रलोभन दे रहा था। जिसकी शिकायत सिटी एसपी को दी गई। आरोपित की गिरफ्तारी के लिए महिला न्याय की गुहार लेकर एसएसपी कार्यालय पहुंची थी। एसएसपी से मुलाकात नहीं होने पर कार्यालय में न्याय की गुहार लगाते हुए मांग पत्र भी सौंपा था। कहा कि उसके पास अब दो नाबालिग पुत्रियों के साथ खुदकुशी करने के सिवाय और कोई चारा नहीं बचा है। महिला का पुलिस ने अदालत में 19 जून को 164 के तहत बयान भी कलमबंद हो चुका है। पत्र की प्रतिलिपि झारखंड के राज्यपाल, पुलिस महानिदेशक, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग और अनुसूचित जनजाति आयोग को भेजी है। महिला का आरोप है कि आरोपित उसे मंत्री के घर भी ले जाता था। वहां की सीसीटीवी बंद करवा देता था। आरोपी के खिलाफ यौन शोषण, गर्भपात कराने, धमकी देने, ब्लैक मेलिंग किए जाने, सात लाख रुपये ऐंठ लेने संबंधित शिकायतवाद दर्ज होने और कदमा थाना में प्राथमिकी दर्ज किए जाने के बाद उसे मंत्री के चालक पद से हटा दिया गया था। आरोपित का मानगो परमेश्वर कालोनी और कदमा भाटिया बस्ती हरिओम अपार्टमेंट में घर है। मूलरूप से बिहार के जमुई के कटौना का निवासी है। महिला शादीशुदा है। उसकी दो बेटी है। वैवाहिक जीवन में विवाद होने के कारण वह पति से अलग रहने लगी। इसी दौरान प्रदुत सिंह से उसकी पहचान हुई। नजदीकियां बढ़ती चली गई। महिला से आरोपित ने कहा कि अगर पति से तलाक लेगी तो वह उससे शादी कर लेगा। वह उसके झांसे में आ गई। आरोपित 2012 से यौन शोषण करता रहा। गर्भवती होने पर गर्भपात करा दिया। महिला और उसके भाई से सात लाख रुपये भी ले लिया। इस बीच महिला का पति से तलाक हो गया। महिला ने आरोपित को शादी करने को कहा तो उसने इंकार कर दिया था।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply