Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

इंडिया ओपन: पूर्व चैंपियन श्रीकांत व सिंधु को मिली शीर्ष वरीयता

- Sponsored -

नयी दिल्ली : विश्व चैंपियनशिप के रजत पदक विजेता और ओलम्पिक कांस्य पदक विजेता पीवी सिंधु को भारतीय बैडमिंटन संघ (बीएआई) द्वारा आयोजित योनेक्स-सनराइज इंडिया ओपन 2022 के साथ 2022 अंतर्राष्ट्रीय बैडमिंटन टूर्नामेंट में क्रमश: पुरुष और महिला वर्ग में शीर्ष वरीयता दी गयी है। टूर्नामेंट का आयोजन इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम परिसर में स्थित केडी जाधव इंडोर हॉल में 11-16 जनवरी के बीच होगा। 400,000 अमेरिकी डॉलर की पुरस्कार राशि वाले इस सुपर 500 इवेंट के साथ 2022 एचएसबीसी बीडब्ल्यूएफ वर्ल्ड टूर सीजन की शुरुआत होगी। विश्व चैंपियनशिप के मौजूदा रजत पदक विजेता किदांबी श्रीकांत ने पुरुष एकल वर्ग में टॉप सीड हासिल किया है। साथ ही विश्व चैंपियन लोह कीन यू और विश्व चैम्पियनशिप के ही कांस्य पदक विजेता लक्ष्य सेन अपना पहला योनेक्स-सनराइज इंडिया ओपन खिताब जीतने के मकसद से चुनौती पेश करेंगे। भारतीय बैडमिंटन संघ के महासचिव और आयोजन सचिव अजय सिंघानिया ने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की कि टूर्नामेंट आगे बढ़ रहा है और उन्हें विश्वास है कि टूर्नामेंट अपने पिछले संस्करणों की तरह शानदार रूप से सफल होगा। टोक्यो ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता और भारत की प्रमुख महिला बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु महिला एकल वर्ग का नेतृत्व करेंगी। इस वर्ग में दो बार की चैंपियन सायना नेहवाल, थाईलैंड की बुसानन ओंगबामरुंगफान और सिंगापुर की जिया मिन येओ भी शामिल हैं। 2017 की चैंपियन पीवी सिंधु ने कहा कि प्रशंसकों के बिना खेलना थोड़ा निराशाजनक होगा, लेकिन वह इस टूर्नामेंट में अपना दूसरा का खिताब जीतने के लिए प्रेरित हैं। सिंधु ने कहा मैं हमेशा नई दिल्ली में खेलने के लिए उत्सुक रही हूं क्योंकि इंडिया ओपन में हमेशा शानदार माहौल के साथ दर्शकों की भीड़ लगी रहती है। यहां घर पर टूर्नामेंट जीतना किसी भी खिलाड़ी के लिए हमेशा खास होता है।
योनेक्स-सनराइज टूर्नामेंट का टाइटल स्पांसर है और सनराइज स्पोर्ट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंध निदेशक विक्रमादित्य धर ने जोर देकर कहा कि टूर्नामेंट का सपोर्ट करना खेल के प्रति उनकी प्रतिबद्धता का हिस्सा है। पुरुष एकल के शीर्ष वरीय और पूर्व चैंपियन श्रीकांत ने कहा कि टूर्नामेंट ने उन्हें विश्व चैंपियनशिप की सफलता को आगे बढ़ाने का सही मौका प्रदान किया है।श्रीकांत ने कहा, ‘‘इस साल एशियाई खेल और राष्ट्रमंडल खेल होने हैं और इस कारण यह सीजन हमारे लिए काफी लम्बा होने वाला है। घरेलू टर्फ पर सीजन की शुरुआत करने से मुझे जीत के साथ साल की अच्छी शुरुआत करने का सही मौका मिल रहा है।’’ यह टूर्नामेंट का 10वां संस्करण है। 2020 की शुरुआत में कोरोना वायरस के प्रकोप के बाद उसे दो साल के अंतराल के बाद आयोजित किया जा रहा है। जिसमें पांच श्रेणियों के 19 देशों के खिलाड़ी खिताब और पुरस्कार के लिए प्रतिस्पर्धा करेंगे। विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाले लक्ष्य सेन भी घरेलू टूर्नामेंट में अपनी पहली उपस्थिति में अपनी छाप छोड़ने को लेकर इच्छुक हैं। सेन ने कहा, ‘‘मैंने हमेशा से इंडिया ओपन खेलने के बारे में सोचा है। कोरोना वायरस महामारी के कारण मुझे दो साल तक इंतजार करना पड़ा, लेकिन मुझे इस सप्ताह अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने का भरोसा है।’’ कोविड से जुड़े प्रतिबंधों के कारण टूर्नामेंट के आयोजन के दौरान सख्त प्रोटोकॉल का पालन किया जा रहा है। मंगलवार से टूर्नामेंट का मुख्य ड्रॉ शुरू हो रहा है। ऐसे में सभी खिलाड़यिों को वेन्यू में प्रवेश करने से पहले अनिवार्य टेस्ट से गुजरना पड़ेगा।

 

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.