Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

तीसरी लहर से बचने के नियमों का पालन करें, भीड़ का हिस्सा नहीं बने

- Sponsored -

जमशेदपुर। दुगार्पूजा एवं दशहरा पर्व को लेकर बाजारों, पूजा पंडलों और सार्वजनिक स्थानों में उमड़ रही भीड़ कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए अच्छा संकेत नहीं हैं। क्योंकि कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे चिकित्सकों के अनुसार, कोरोना अभी पूरी तरह से गया नहीं है। वायरस अभी भी मौजूद है, जिसके कारण भले ही कम लेकिन मरीज मिल रहे हैं। हालांकि, फिलहाल वायरस तेज गति से फैल नहीं रहा है जिसके कारण एक्टिव मरीजों की संख्या कम है। बेवजह भीड़भाड़ का हिस्सा बनने के कारण वायरस जैसे ही फैलेगा मरीजों की संख्या बढ़ने लगेगी। ऐसे में राज्य सरकार द्वारा जारी दिशा-निदेर्शों का पालन सख्ती से सबको करना होगा। तीसरी लहर से बचने के लिए यह जरूरी है। सरकार ने नियमों में दी गई छूट के कारण बाजारों, पूजा पंडलों और सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ बढ़ने लगी है। ऐसे में ज्यादा सावधान रहने की जरूरत है। अनावश्यक तौर पर बाजारों व भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचें। जब ज्यादा जरूरी हो तभी घर से निकलें। भीड़भाड़ वाले पूजा पंडलों में नहीं जायें। माता का दर्शन दूर से ही कर प्रणाम करें। कोविड वायरस को रोकने के लिए आमजन का सहयोग व लगातार कोविड के नियमों का पालना करना जरूरी है। रविवार को लॉकडाउन के बावजूद साकची बाजार में फुटपाथी दुकानदारों ने अपनी दुकानें लगाईं। दुर्गा पूजा के पहले अंतिम रविवार होने के कारण बड़ी संख्या में लोग अपने परिवार के साथ खरीदारी करने पहुंचे थे। इसमें ऐसे कई लोग देखने को मिले जो खुद तो मास्क लगाए हुए थे, लेकिन अपने बच्चों को बिना मास्क लगाए ही गोद में पकड़े हुए थे। जानकारों के अनुसार, कोरोना की तीसरी लहर में बच्चों को ही सबसे ज्यादा खतरा है। ऐसे में इस तरह की लापरवाही उनके लिए घातक होगी। रविवार को साकची में बाजार लगने की सूचना के बाद पुलिस शाम को पहुंची और दुकानदारों को खदेड़ा। पुलिस की कार्रवाई के बाद दुकानदार अपने सामान को लेकर इधर-उधर भागे। हालांकि पुलिस के जाने के बाद फिर से कुछ दुकानें लग गई। हालांकि बाजार की बड़ी दुकानें बंद रहीं। भूले नहीं कि इस महामारी के कारण आमजन जीवन बहुत प्रभावित हुआ है। कोरोना महामारी के कहर में बहुत से लोगों ने अपनी जान गंवाई है। सावधानी बरत कर घरों में रहकर अपने तथा अपने परिवार को इस महामारी की चपेट में आने से बचाना है। महामारी की संभावित तीसरी लहर से बचने के लिए नियमों की पालना करना अति आवश्यक है। सरकारी नियमों का पालन करके ही हम महामारी की तीसरी लहर से बच सकते हैं। ऐसे में तीन महत्वपूर्ण एहतियात उपाय जरूरी हैं, जिनमें सामाजिक दूरी, मास्क का प्रयोग व हाथों को बार-बार साबुन व हैंड सैनिटाइजर से साफ करना शामिल है। इन एहतियात को अपनाकर आप अपने व अपने परिवार को कोरोना महामारी से बचाकर प्रशासन व पुलिस का सहयोग करें। पुलिस की कानूनी कार्रवाई से डरने के लिए नहीं, कोरोना महामारी से बचाव के लिए हमेशा मास्क पहनकर घर से निकलें।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply