Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

खाद्य तेलों में तेजी, दाल, गुड़ और चीनी सस्ती

- Sponsored -

नयी दिल्ली : वैश्विक बाजार की गिरावट के बावजूद स्थानीय स्तर पर उठाव मजबूत रहने से बीते सप्ताह खाद्य तेलों में 642 रुपये प्रति क्विंटल तक की तेजी रही वहीं मांग फिसलने से दाल, गेहूं, गुड़ और चीनी सस्ती हो गई।

तेल तिलहन : वैश्विक स्तर पर मलेशिया के बुरसा मलेशिया डेरिवेटिव एक्सचेंज में पाम आॅयल का मार्च वायदा समीक्षाधीन सप्ताह के दौरान 51 रिंगिट गिरकर 5709 रिंगिट प्रति टन पर आ गया। इसी तरह मार्च का अमेरिकी सोया तेल वायदा 1.25 सेंट टूटकर सप्ताहांत पर 65.02 सेंट प्रति पाउंड रह गया।सप्ताहांत पर वनस्पति तेल 642 रुपये, सूरजमुखी तेल 292 रुपये, सोया रिफाइंड 292 रुपये, सोया रिफाइंड 219 रुपये और पाम आयल 220 रुपये रुपये प्रति क्विंटल महंगा हो गया जबकि मूंगफली तेल 292 रुपये प्रति क्विंटल उतर गया वहीं सरसों तेल के भाव में कोई बदलाव नहीं हुआ।सप्ताहांत पर सरसों तेल 19560 रुपये प्रति क्विंटल, मूंगफली तेल 16923 रुपये प्रति क्विंटल, सूरजमुखी तेल 16336 रुपये प्रति क्विंटल, सोया रिफाइंड 15237 रुपये प्रति क्विंटल, पाम आयल 13407 रुपये प्रति क्विंटल और वनस्पति तेल 15000 रुपये प्रति क्विंटल पर रहा।

- Sponsored -

दाल-दलहन : बीते सप्ताह उठाव कमजोर रहने से दाल-दलहन के बाजार में गिरावट रही। सप्ताहांत पर चना 100 रुपये, चना दाल 100 रुपये, मसूर दाल 150 रुपये, मूंग दाल 200 रुपये, उड़द दाल 200 रुपये और अरहर दाल 200 रुपये प्रति क्विंटल सस्ती हो गई। सप्ताहांत पर चना 4600-4700, दाल चना 5700-5800, मसूर काली 8500-8600, मूंग दाल 8200-8300, उड़द दाल 8900-9000, अरहर दाल 8100-8200 रुपये प्रति क्विंटल रही।

अनाज : बीते सप्ताह अनाज के बाजार में मिलाजुला रुख रहा। सप्ताहांत पर गेहूं 50 रुपये प्रति क्विंटल उतर गया जबकि चावल 50 रुपये प्रति क्विंटल चढ़ गया।
सप्ताहांत पर अनाज (भाव प्रति क्विंटल) : गेहूं दड़ा 2240-2340 रुपये और चावल : 2400-2500 रुपये प्रति क्विंटल पर रहा।

- Sponsored -

चीनी-गुड़ : आलोच्य सप्ताह मीठे के बाजार में गिरावट रही। मांग कमजोर पड़ने से गुड़ 100 रुपये प्रति क्विंटल और चीनी 20 रुपये प्रति क्विंटल सस्ती हो गई।सप्ताहांत पर चीनी एस. 3340-3440, चीनी एम. 3660-3760, मिल डिलीवरी 3290-3390 और गुड़ 3300-3400 रुपये प्रति क्विंटल पर रहे।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.