Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

कार्यकारी निदेशक ने बीसीसीएल की खदानों का किया निरीक्षण

- Sponsored -

धनबाद: भूमिगत व खुली खदानों की सुरक्षा को लेकर कोल इंडिया गंभीर हो गई है। इस दिशा में कोल इंडिया की एक उच्च स्तरीय टीम कोयला कंपनियों का दौरा कर सुरक्षा का जायजा ले रही है। इसी क्रम में कोल इंडिया कार्यकारी निदेशक (सुरक्षा) की टीम दो दिन से बीसीसीएल के दौरे पर है। कार्यकारी निदेशक एन दास ने कहा कि बीसीसीएल में आग के कारण कोयला खनन करने में कई तरह की परेशानी है। भूमिगत खदानें काफी पुरानी हो गई है। नई तकनीकी विकसित कर कोयला खनन पर जोर देने होगा। सुरक्षा पहली प्राथमिकता में है। कई नई तकनीक का उपयोग इन माइंस में हो सकता है। दास ने कहा कि श्रमिकों को सुरक्षा के प्रति जागरूक करने की जरूरत है। इसके लिए अधिकारियों को पहल करना होगा। बीसीसीएल के कतरास क्षेत्र संख्या 4 के अंतर्गत एकीकृत एपी सीजी(चैतूडीह,गजलीटांड ) कोलियरी का दौरा सुरक्षा टीम ने किया। ईडी सेफ्टी ने कहा कि आने का मुख्य कारण सुरक्षा का माहौल तैयार करना है, ताकि यहां पर काम कर रहे हैं लोग सुरक्षा के प्रति जागरूक हो और हमारे सुरक्षा पदाधिकारी एवं समिति के सदस्यों को भी इसकी जानकारी मिल सके। गजलीटांड माइंस के बारे में कहा कि हम देखने के लिए आये हैं कि इस माइंस को चलाना कितना जरूरी है क्योंकि यहां पर कोयला बहुत ही नीचे है। इसे चलाने में कितना आर्थिक फायदा या नुकसान होगा। सुरक्षा लिहाज से क्या जरूरत हो सकती है। इन सब पर रिपोर्ट तैयार कर कोल इंडिया को दी जाएगी। उसके बाद पूरी रिपोर्ट कोयला मंत्रालय जाएगी। उच्च स्तरीय टीम रिपोर्ट देखने के बाद इस पर आगे अपना निर्णय देगी।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply