Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

जम्मू-कश्मीर में कोरोना से भी ज्यादा घातक प्रशासनिक उदासीनता: महबूबा

श्रीनगर:पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने जम्मू-कश्मीर के लोगों को महत्वपूर्ण मोड़ पर छोड़ने का केन्द्र पर आरोप लगाते हुए बुधवार को कहा कि कुप्रबंधन और भाई-भतीजावाद के साथ प्रशासनिक उदासीनता मौजूदा महामारी की तुलना में अधिक घातक साबित हो रही है।सुश्री महबूबा ने कहा, कोविड पॉजिटिव मामलों के बढ़ते ग्राफ और इससे होने वाली मौतों से यह स्पष्ट है कि देश के बाकी हिस्सों की तरह जम्मू-कश्मीर में प्रशासन भी अनिवार्यताओं को पूरा करने के लिए तैयार नहीं है।’ उन्होंने कहा कि भाई-भतीजावाद और पक्षपात ने तत्कालीन राज्य में पूरे प्रशासनिक ढांचे को पंगु बना दिया है, जिससे आम जनता की परेशानी बढ़ रही है।सुश्री मुफ्ती ने कहा कि जिला स्तर पर प्रशासन पंगु हो गया है क्योंकि केन्द्र सरकार अधिकारियों को भी लोगों के कल्याण के लिए आवश्यक निर्णय लेने की अनुमति नहीं दे रही है। उन्होंने कहा,‘‘ भारतीय जनता पार्टी की राजनीतिक आकांक्षाओं की पूर्ति के लिए प्रशासन की स्वतंत्रता और कामकाज को बंधक बना दिया गया है जिसका खामियाजा जम्मू भुगत रहा है।’ सुश्री महबूबा ने कहा कि मुगल रोड और किश्तवाड़-सिंथान राजमार्ग बर्फ हटाने पर भारी रकम खर्च करने के बावजूद वाहनों के आवागमन के लिए बंद रहे, क्योंकि नयी दिल्ली में बैठे लोग कश्मीर क्षेत्र के साथ पिपंचल और चिनाब घाटी की सतही कनेक्टिविटी को अपने राजनीतिक हितों के लिए हानिकारक मानते हैं। उन्होंने आरोप लगाया, इन महत्वपूर्ण सड़क संपर्कों के बंद होने से न केवल व्यापारिक समुदाय प्रभावित हुआ है, बल्कि उन लोगों के लिए भी विकल्प सीमित हो गए हैं, जिन्हें विशेष चिकित्सा उपचार के लिए जाना पड़ता है।

Looks like you have blocked notifications!

Leave a Reply