Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

शिक्षा से ही संस्कार, सभ्यता और संस्कृति का विकास होता है: एमपी केशरी

- Sponsored -

गढ़वा। शहर के जीएन कॉन्वेंट स्कूल में विश्व साक्षरता दिवस के मौके पर कार्यर्क्रम आयोजित कर निबंध, क्विज प्रतियोगिता सहित अन्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन स्कूल के निदेशक मदन प्रसाद केशरी ने दीप जलाकर किया। प्रतियोगिता में बेहतर प्रदर्षन करने वाले छात्र-छात्राआें को पुरस्कृत किया गया। मौके पर निदेशक श्री केशरी ने कहा कि शिक्षा से ही संस्कार, सभ्यता और संस्कृति का विकास होता है तथा किसी भी व्यक्ति का व्यकित्व निखरता है। शिक्षा से ही सामाजिक परिवेश में उत्तरोत्तर विकास होता है। शिक्षा जीवन में रोशनी भरने का काम करती है। स्वस्थ समाज और राष्ट्र निर्माण में शिक्षा की अहम भूमिका है। पुरूषों की तुलना में महिलाओं का शिक्षा अनुपात कम है। शिक्षा की कमी के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में अंधविश्वास एवं गरीबी की समस्या बनी हुई है। प्राचार्य बीके ठाकुर ने कहा कि शिक्षित नागरिक अपने कर्तव्य और अधिकार के प्रति सजग रहते हैं। शिक्षा के अभाव में लोगों का शोषण होता है। रीत आनन्द को प्रथम, सृष्टि आनन्द को द्वितीय, मुस्कान कुमारी को तृतीय पुरस्कार प्रदान किया गया। जबकि प्रतियोगिता में शामिल प्रतिभागी आयुष सिन्हा, काजल तिवारी, राजेश कुमार, विद्या कश्यप, अंश कुमार, अतुल कुमार श्रीवास्तव, नेहाल कौशर, प्राची केशरी, अनुराधा कुमारी, कृति कुमारी आदि ने भी बेहतर प्रदर्शन किया। मौके पर निदेशक मदन केशरी ने प्रतिभागियों के बीच प्रमाण पत्र और पारितोषिक वितरण किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में विनय दुबे, एसएन उपाध्याय, सन्तोष प्रसाद, एनके सिन्हा, उदय प्रकाश, रिजवाना शाहीन, अनूपा तिर्की, सरिता दुबे, कृपाशंकर तिवारी, अजय लाल आदि ने सराहनीय भूमिका निभाई।



Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply