Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

सरकार पीएम आवास योजना से  दर्जनों विकलांग विधवा वंचित

- Sponsored -

नवाडीह की पूर्व मुखिया आमोलिना सारस ने दिलाई न्याय का भरोसा।
हुसैन अंसारी/नेहाल अहमद
किस्को(लोहरदगा): किस्को प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पंचायत नवाडीह में सरकार की सबसे महत्वपूर्ण एवं महत्वकांक्षी योजना प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण से आजादी के कई दशक गुजर जाने के बाद भी आज तक विकलांग विधवा एवं भूमिहीन परिवार की महिलाओं को प्रशासनिक विडंबना के वजह से वंचित रहना पड़ा है। लोग कितने बार अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों के समक्ष अपनी समस्याओं से मौखिक एवं लिखित रूप से अवगत करा चुके हैं बावजूद क्षेत्र के असहाय एवं जरूरतमंद लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण का लाभ से महरूम रहना बेबसी बन गया है। इस मामले की जानकारी मिलते ही तत्काल नवाडीह पंचायत की भूतपूर्व मुखिया आमोलिना सारस ने प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण से वंचित असहाय एवं जरूरतमंद लोगों को आश्वस्त करते हुए शत-प्रतिशत न्याय दिलाने की बात कही एवं मंगलवार को सभी विकलांग, विधवा एवं भूमिहीन परिवार की महिलाओं को लेकर प्रखंड मुख्यालय पहुंचकर बीडीओ अनिल कुमार मिंज के समक्ष सारी स्थिति वस्तु से अवगत कराते हुए प्राथमिकता के साथ पीएम आवास से वंचित लोगों को ससमय आवास योजना का लाभ दिलाने की मांग रखी। पूर्व मुखिया आमोलिना सारस ने कहा कि सरकार एक ओर विधवा, विकलांग एवं भूमिहीन परिवार के लोगों को आवास योजना के अलावा सभी प्रकार के योजनाओं का लाभ प्राथमिकता के साथ दिए जाने को लेकर कटिबद्ध है। पूर्व मुखिया आमोलिना सारस ने कहा कि दुःखद बात यह है कि जरूरतमंद असहाय एवं गरीब परिवार के लोगों को सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं पीएम आवास योजना के लाभ से वंचित रहना पड़ा है। पूर्व मुखिया ने कहा कि एक तरफ ग्रामसभा में योजना चयन को लेकर पारदर्शिता की बात कही जाती है लेकिन इन असहाय जरूरतमंद लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण से दूर रखे जाने से ऐसा प्रतीत होता है कि पंचायत स्तर पर होने वाली ग्रामसभा में चयन कमिटी के पदाधिकारी व कर्मी द्वारा पारदर्शिता के बदले पूरी तरह से अनियमितता बरती गई है यही वजह है कि इतने असहाय, विधवा, विकलांग व भूमिहीन परिवार की महिलाओं को पीएम आवास योजना ग्रामीण से महरूम होना पड़ा है।
पूर्व मुखिया आमोलिना सारस के अनुसार आवास प्लस हेतु बीते दिनों बुलाई गई पंचायत स्तरीय ग्रामसभा के प्रचार-प्रसार में जन-जन तक जानकारी नहीं पहुंचाई गई थी। पूर्व मुखिया आमोलिना सारस ने कहा कि ग्रामसभा चयन समिति द्वारा ग्रामसभा को पूरी तरह से गोपनीय तरह से संपन्न कराया गया एवं अपने चहेते लोगों को सरकार के महत्वाकांक्षी योजना प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण का लाभ दिलाने हेतु ग्रामसभा में आमंत्रित किया गया था।
तीन दर्जन से अधिक जरूरतमंद परिवार योजना से वंचित
नवाडीह पंचायत में पीएम आवास योजना ग्रामीण का चयन को ले आयोजित की गई ग्रामसभा में पंचायत क्षेत्र के तीन दर्जन से अधिक विधवा, विकलांग व भूमिहीन परिवार के लोगों का नाम अंकित नहीं होने से मनोबल टूट गया है। इन सभी लोगों ने पूर्व मुखिया आमोलिना सारस से न्याय की गुहार लगाई थी जिसपर संज्ञान में लेते हुए सभी लोगों को बीडीओ अनिल कुमार मिंज के समक्ष लिखित आवेदन देकर न्याय दिलाने की मांग पूर्व मुखिया द्वारा रखी गई।
इन भूमिहीन, विधवा व विकलांग लोगों ने बीडीओ से लगाई गुहार
प्रखंड के ग्राम पंचायत नवाडीह से मंगलवार को पीएम आवास योजना ग्रामीण का लाभ दिलाने को ले बीडीओ अनिल कुमार मिंज के समक्ष लिखित रूप से आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है। इधर बीडीओ से गुहार लगाने वालों में रूकमनी कुमारी, अनीता देवी, देवमेनने कुजूर, मर्था कुजूर, सुमंती उरांव, फगनी उरांव, दरूदन बीवी, फजीरन बीवी, फुलवा बीवी, सफीना खातुन, अहीदन खातुन, बीवी राजो, सहीदन खातुन, सैदुन बीवी, समीरूल्लाह अंसारी, सायरा खातुन, असीरन खातुन, सकीमन खातुन, खुर्शीदा खातुन, बकरीदन खातुन, सुगैन देवी, अकीमा खातुन, लगैन देवी, हाजरा खातुन, चरका महली, मुंतजीर अंसारी, मेहरातुन खातुन, मसीना खातुन, सफीना प्रवीण, शबनम खातुन सहित अन्य महिला व पुरूष शामिल थे।
बीडीओ ने ये कहा
मामले को ले प्रखंड विकास पदाधिकारी अनिल कुमार मिंज ने कहा कि सरकार की महत्वाकांक्षी योजना प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण का प्राथमिकता के आधार पर सर्वप्रथम भूमिहीन, विधवा, विकलांग व आदिम जनजाति के लोगों को दी जानी है यदि इसपर किसी तरह की लापरवाही की जाती है तो जांच पड़ताल कर वैसे लोगों को प्राथमिकता के साथ पीएम आवास का लाभ मुहैया कराया जाएगा।
Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply