Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

दिल्ली सरकार राशन माफियाओं के नियंत्रण में: भाजपा

नयी दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरंिवद केजरीवाल पर आरोप लगाते हुए कहा है कि दिल्­ली सरकार पूरी तरह से राशन माफियाओं के नियंत्रण में है। शुक्रवार को यहां भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि श्री केजरीवाल हर घर में राशन पहुंचाने की बात कर रहे हैं, लेकिन जब कोरोना से लोग परेशान थे तब उनकी सरकार मरीजों को आॅक्­सीजन तक नहीं पहुंचा सकी थी। उन्होंने कहा कि दिल्­ली सरकार मोहल्­ला क्­लीनिक के जरिए लोगों के घरों तक दवा तक नहीं पहुँचा सकी। श्री केजरीवाल का हर घर राशन योजना भी एक जुमला है।श्री प्रसाद ने कहा कि केंद्र सरकार देशभर में दो रुपये प्रति किलो गेहूं और तीन रुपये किलो चावल देती है। प्रधानमंत्री गरीब कल्­याण अन्­न योजना के तहत पिछले साल जब कोरोना की शुरुआत हुई थी तब से गरीबों को मुफ्त राशन दिया जा रहा है। इस साल भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस योजना को अब नवंबर तक बढ़ाने का एलान किया है।उन्­होंने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से पूरे देश में वन नेशन, वन राशन कार्ड की योजना शुरू की गई है। देश के 34 राज्­यों और केंद्र शासित प्रदेशों में केंद्र सरकार की यह योजना काम कर रही है।उन्होंने कहा कि चावल का खर्चा 37 रुपये प्रति किलो होता है और गेहूं का 27 रुपये प्रति किलो होता है। केंद्र सरकार सब्सिडी देकर राज्यों को राशन की दुकानों के माध्यम से बांटने के लिए अनाज देती है। सरकार सालाना करीब दो लाख करोड़ रुपये इसमें खर्च करती है।केन्द्रीय मंत्री ने कहा, दिल्­ली, पश्चिम बंगाल और असम को छोड़कर यह योजना हर जगह चल रही है। मैं दिल्­ली के मुख्यमंत्री से सवाल पूछता हूँ कि आखिर दिल्­ली में केंद्र सरकार की इस योजना को अभी तक क्­यों शुरू नहीं किया गया? उन्होंने श्री केजरीवाल से प्रश्न पूछते हुए कहा कि मुख्यमंत्री बताएं कि आखिर केंद्र सरकार की योजना को शुरू करने में उन्­हें क्­या दिक्­कत है। उन्होंने कहा कि श्री केजरीवाल गरीबों की ंिचता करने का केवल नाटक करते हैं।

Looks like you have blocked notifications!

Leave a Reply