Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

डीएवी स्कूल जामाडोबा के चपरासी की पेड़ से गिरकर मौत

जोड़ापोखर: टाटा डीएवी स्कूल जामाडोबा के चपरासी 50 वर्ष के फागु रजक आम के पेड़ पर से आम तोड़ने केदौरान गिरने से मौत गयी है। जामाडोबा अस्पताल में शव रखा गया है। अस्पताल पहुंचने के बाद छोटा पुत्र रबिन्द्र रजक म्रत पिता की खबर सुन कर रो पड़े। मृतक के बड़ा पुत्र आर्मी जवान धर्मेन्द्र रजक को सूचना दिया गया है। परिजनों ने आरोप लगाते हुए हंगामा किया की स्कूल के शिक्षक लोगों ने ही आम तोड़ने के लिए फागु रजक को पेड पर चढ़ाया हैं, जिससे वह पैर फिसल गया औऱ गिर कर मौत हो गया है। आनन फानन में स्कूल में मौजूद शिक्षकों ने जामाडोबा अस्पताल लाया गया, जहा चिकित्सकों ने फागु को म्रत घोषित कर दिया है। परिवार के लोगों का आरोप है की प्रिंसिपल म्रत के आश्रित को मुआवजा, नौकरी नही देगा, शव को पोस्टमार्टम के लिए नहीं भेजा जाएगा। जोड़ापोखर पुलिस घटना स्थल पर पहुंच गई हैं। पुलिस ने परिवार के लोगों को समझा बुझाकर सांत करा दिया है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मृतक केंदुआ बाजार का रहने वाला है। पत्नी आशा देबी को घटना की सूचना नहीं दिया गया है, वह बीमार चल रही हैं। म्रतक के बढा पुत्री अनिता की शादी हो गई है, जबकि छोटी बेटी मनीषा कुमारी की इसी बर्ष शादी करनी थी।उनकी सपना था की पुत्री की शादी धूम धाम से करेंगे, परन्तु सपना अधूरा रह गया है। स्कूल के प्रिंसिपल पी.के.मिश्रा ने कहा की डीएवी स्कूल के नियमों के अनुसार ही मृतक के परिवार के एक सदस्य को नौकरी एवम मुआवजा दिया जायेगा। मृतक के पुत्र रबिन्द्र रजक श्राद्ध कर्म के लिए दस हजार रुपए दिया गया है। घटना के वक्त वह स्कूल में नहीं थे बल्कि स्कूल के काम से बाहर थे स्कूल के पियून फागु रजक कार्य के दौरान ही आम के पेड़ के ऊपर चढ़ कर आम तोड़ रहे थे। मंगलवार को बर्षा हुआ था, पेड़ गिला था, उनका पाव फिसल गया, और गिर गए, उपस्थित शिक्षकों, एवम कर्मचारियों ने जामाडोबा अस्पताल ले गए, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया है।

Looks like you have blocked notifications!

Leave a Reply