Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

प्राइवेट स्कूल के शिक्षकों को सम्मानित करने के कार्यक्रम में उड़ी कोरोना गाइड लाइन की धज्जियां!

- Sponsored -

रांची: अगर शिक्षक ही कोरोना गाइड लाइन की धज्जियां उड़ा है तो उसे क्या कहेंगे ,दरअसल प्राइवेट स्कूल चिल्ड्रन वेलफेयर एसोसिएशन द्वारा शिक्षकों को सम्मानित करने के कार्यक्रम के दौरान यह नजारा दिखा। इस दौरान शिक्षकों द्वारा कोविड-19 गाइडलाइन का पालन नहीं किया गया । जबकि सरकार के मंत्री भी इस कार्यक्रम में शामिल थे। रांची यूनिवर्सिटी के आर्यभट सभागार में शनिवार को पासवा ने राजधनी के प्राइवेट स्कूल के शिक्षकों को सम्मानित करने के लिए कार्यक्रम का आयोजन किया। पसवा के प्रदेश अध्यक्ष आलोक कुमार दुबे के नेतृत्व में इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया । जिसमें झारखंड सरकार के वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद रहे। इस दौरान शिक्षकों को सम्मानित किया गया । वहीं शिक्षकों के द्वारा लगातार मांग की जा रही है कि स्कूलों को खोला जाए क्योंकि स्कूल बंद होने की वजह से शिक्षकों के सामने आर्थिक समस्या आ गई है । कई स्कूलों में फीस जमा नहीं करने की वजह से प्राइवेट स्कूल के शिक्षकों को समय पर वेतन नहीं मिल पा रहा है। साथ ही धमकी देते हुए कहा कि प्राइवेट स्कूल अगर एक बार भी कठोर फैसला ले लिया तो देश में परेशानी बढ़ जाएगी । हमें निजी विद्यालयों के संरक्षण का मौका मिला है अगर कोई निजी विद्यालयों को एक अंगुली और आंख दिखाया जाए तो मैं उसके खिलाफ हूँ।
कार्यक्रम में मौजूद थे वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव
जिस समय कांग्रेस के नेता आलोक दुबे इस तरह के बयान दे रहे थे उस समय कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वर्तमान सरकार के वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव मौजूद थे।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply