Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

मुंगेर के कई उप स्वास्थ्य केंदों की दशा दयनीय

मुंगेर : जिले में कई उप स्वास्थ्य केंद्र का हाल बुरा है। कई उप स्वास्थ्य केंद्र देख -रेख के अभाव में जर्जर हो गया है तो कई में मवेशी रखने के लिए तबेला बन गया। वही ग्रामीणों की माने तो उनका कहना है विगत 30 वर्षो से इलाके के लोग इस उप स्वास्थ्य केंद्र का लाभ नहीं ले पा रहे है। कुछ उप स्वास्थ्य केंद्र में कभी -कभी एएनएम हाजिरी बनाकर पीएचसी में ड्यूटी में चले जाते है। दरअसल जिस उप स्वास्थ्य केंद्र का जिक्र कर रहे है वो जिले के धरहरा प्रखण्ड के तीन पंचायत के चार उप स्वास्थ केंद्र की बात कर रहे है। वही सारोबाग पंचायत अवस्थित बड़ी गोविंदपुर गांव में एक मात्र उप स्वास्थ्य केन्द्र है। छह भवनों वाले इस केन्द्र की सभी कमरे जर्जर है। भवन के एक कमरे में स्वास्थ्य केन्द्र का संचालन कागजों पर किया जा रहा है। यहां पर एक मात्र एएनएम राधा कुमारी है जो यदा कदा ही केन्द्र में समय दे पाती है। उनकी ज्यादातर तर ड्यूटी फिल्ड अथवा सीएचसी धरहरा में होता है। विगत 30 वर्षों से यहां के लोग स्वास्थ्य सेवाओं से वंचित हैं। स्वास्थ्य केन्द्र पर स्थानीय लोगों का कब्जा है। केन्द्र का भवन पशुपालकों का गोहाल बनकर रह गया है। वर्तमान मुखिया के द्वारा स्वास्थ्य केन्द्र के बदहाली को लेकर मुख्यमंत्री से लेकर स्वास्थ्य विभाग से गुहार लगाई गई परंतु अबतक कोई सार्थक निष्कर्ष नहीं निकला।वही दूसरी ओड़ाबगीचा पंचायत की बात करे तो इस पंचायत में दो उप स्वास्थ केन्द् है जिसकी स्थिति जर्जर है वही मोहनपुर गांव का उप स्वास्थ केंद्र मवेशियों का तबेला बना हुआ है और दूसरी और ओड़ाबगीचा गावं में बना उप स्वास्थ जर्जर बना हुआ है तो वही आमरी पंचायत का हाल भी यही है। लोगो की माने तो इस इलाके में स्वास्थ विभाग बीमार पड़ी है जिसके कारण लोगो प्रखंड के पीएचसी जाना पड़ता है या झोला छाप डॉक्टरों के चक्क्रर में रहना पड़ता है।

Looks like you have blocked notifications!

Leave a Reply