Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

मतदान के बाद सभी प्रत्याशी कर रहे जीत के दावे, दर्जन भर पूर्व मुखिया पर मतदाताओं ने जताया है विश्वास

- Sponsored -

  • मतगणना के बाद पार्टी से जुड़े कई सुरमा के गुस्से का समर्थकों को होना पड़ेगा कोपभाजन
  • रामप्रसाद सिन्हा
    पाकुड़: पहले चरण में हुए मतदान के बाद वार्ड सदस्य, पंचायत समिति सदस्य, जिला परिषद सदस्य के अलावे मुखिया पद के सभी प्रत्याशी अपने अपने जीत के दावे कर रहे है। जीत के दावे के दौरान प्रत्याशियों द्वारा उनके समर्थन में कितने मत पड़े है इसकी भी खुब चर्चा चैक चैराहे पर किया जा रहा। पाकुड़ प्रखंड में पहले चरण में हुए चुनाव के दौरान मतदाताओ ने पूर्व के एक दर्जन मुखिया पर विश्वास जताया है। मतदान के बाद मतदाताओ से की गयी बातचीत के मुताबिक पाकुड़ प्रखंड के पूर्व दर्जनभर मुखिया दुबारा अपने अपने पंचायतो का प्रतिनिधित्व का मौका मिल सकता है हालांकि यह तो मतगणना के बाद ही साफ होगा कि मतदाताओ ने बुथ के अंदर किस प्रत्याशी पर विश्वास जताया था। पहले चरण के हुए चुनाव के दौरान खासकर राजनीतिक दलो से जुड़े कई सुरमा के समर्थको के उनके गुस्से का कोपभाजन भी होना पड़ सकता है। ऐसा इसलिए कि अधिकांश राजनीतिक दलो से जुड़े चाहे वे मुखिया पद के या दुसरे पद के बतौर प्रत्याशी मैदान में भाग्य अजमा रहे थे उन्हे मतदाताओ ने भरोसे के लायक नही समझा है। हालांकि झारखंड में दलगत पंचायत चुनाव नही हो रहे है लेकिन कमोवेश सभी राज्य की प्रमुख राजनीतिक पार्टियो ने अपने संगठन से जुड़े समर्थको और कार्यकर्ताओ को मैदान में बतौर प्रत्याशी उतारा था। कई तो ऐसे भी प्रत्याशी थे जो नामांकन के पहले से ही अपने दल का हवाला देकर जीत के बड़े बड़े दावे कर रहे थे। इन सुरमाओ के दावे की असली हकीकत मतगणना के बाद ही सामने आयेगी लेकिन मतदान के दौरान मिले रूझान के मुताबिक राजनीति दलो से जुड़े सुरमाओ के चेहरे और चरित्र दोनो के पस्त होने के पूरे आसार है।

 

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Leave A Reply