Live 7 Bharat
जनता की आवाज

सीआईडी चंद्रबाबू के खिलाफ सबूत पेश करने में विफल: लोकेश

लोकेश ने अपनी मां एन भुवनेश्वरी के साथ शनिवार को यहां सेंट्रल जेल में अपने पिता से मुलाकात की

- Sponsored -

दिल्ली डेस्क

- Sponsored -

तेलुगु देशम पार्टी यानी टीडीपी के राष्ट्रीय महासचिव नारा लोकेश ने दावा किया है कि आंध्र प्रदेश में अपराध अनुसंधान विभाग सीआईडी पुलिस तेदेपा प्रमुख एवं पूर्व मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू के खिलाफ दर्ज कौशल विकास घोटाला मामले में सबूत पेश करने में विफल रही है।  नायडू के पुत्र नारा लोकेश ने अपनी मां एन भुवनेश्वरी के साथ शनिवार को यहां सेंट्रल जेल में अपने पिता से मुलाकात की।
लोकेश ने बाद में मीडिया से बात करते हुए सरकार को चुनौती दी कि अगर उनके पास कौशल विकास मामले में चंद्रबाबू नायडू की संलिप्तता के बारे में सबूत हैं तो वह लोगों के सामने रखे। इस बात पर अफसोस जताते हुए कि पिछले 50 दिनों से उनके पिता केंद्रीय जेल में हैं, उन्होंने आरोप लगाया कि वाईएसआरसीपी नेताओं ने संस्थानों को प्रबंधित किया, यही कारण है कि पूर्व मुख्यमंत्री कोई गलती नहीं करने के बावजूद जेल में हैं।
लोकेश ने दोहराया कि न तो उनके परिवार के सदस्य और न ही दोस्त कौशल विकास घोटाले में शामिल हैं।वाईएस जगन मोहन रेड्डी के नेतृत्व वाली सरकार पर नायडू के खिलाफ प्रतिशोध की भावना से काम करने का आरोप लगाते हुए।  लोकेश ने कहा कि वाईएसआरसीपी नेता कह रहे हैं कि उनकी मां को भी गिरफ्तार किया जाएगा।
उन्होंने कहा,“वाईएसआरसीपी के एक सांसद ने खुले तौर पर घोषणा की कि अगर जगन मोहन रेड्डी अगले विधानसभा चुनाव में सत्ता में आए, तो श्री चंद्रबाबू नायडू मा जाएंगे। हमारा संस्थानों पर से विश्वास उठ गया है।” तेदेपा नेता ने भड़कते हुए कहा कि चंद्रबाबू नायडू को गिरफ्तार करके  रेड्डी परपीड़क खुशी महसूस कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी प्रमुख को 50 दिनों के लिए केंद्रीय जेल में कैद करना एक अमानवीय कृत्य बताया।
लोकेश ने बताया कि मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी के खिलाफ विभिन्न भ्रष्टाचार के मामलों में केंद्रीय जांच ब्यूरो द्वारा 12 आरोप पत्र दायर किए गए थे, लेकिन वह पिछले 10 वर्षों से स्वतंत्र रूप से घूम रहे हैं। वहीं साथ ही  नायडू गिरफ्तार कर लिया गया जबकि वह किसी घोटाले में शामिल नहीं हैं।
उन्होंने जेल में  नायडू के स्वास्थ्य पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि एक नेत्र रोग विशेषज्ञ ने  नायडू को जल्द से जल्द मोतियाबिंद का ऑपरेशन कराने की सलाह दी, लेकिन अगले दिन उसी डॉक्टर ने सलाह दी कि  नायडू का ऑपरेशन कुछ समय बाद किया जा सकता है जो स्पष्ट रूप से संकेत दे रहा है कि सरकार आपने संस्थानों का प्रबंधन किया है। लोकेश ने इस बात पर भी अफसोस जताया कि जेल में पिछले 50 दिनों के दौरान उनके पिता का वजन छह किलोग्राम कम हो गया है।
तेदेपा नेता ने कहा कि वाईएसआरसीपी सरकार ने केवल इस बात पर ध्यान केंद्रित किया कि नायडू को यथासंभव लंबे समय तक जेल में कैसे रखा जाए और राज्य में सूखे की स्थिति को नजरअंदाज कर दिया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि सूखे की स्थिति और पानी की कमी के कारण 32 लाख एकड़ में फसलें सूख रही हैं लेकिन सरकार ने संकट का समाधान करने की जहमत नहीं उठाई।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.

Breaking News: