Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

गंगा नदी के किनारे रसायन मुक्त प्राकृतिक खेती

- Sponsored -

नयी दिल्ली : सरकार किसानों की आय बढाने तथा रसायनिक उर्वरको के उपयोग को कम करने के उद्देश्य से गंगा नदी के किनारे रसायन मुक्त प्राकृतिक खेती को बढावा देगी ।
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज संसद में पेश वर्ष 2022..23 के आम बजट में कहा कि बजट में रसायनों का उपयोग न करके प्राकृतिक खेती पर भी ध्यान केन्द्रित किया गया है। उन्होंने कहा , ‘‘देशभर में रसायन मुक्त प्राकृतिक खेती को बढ़ावा दिया जाएगा जिसके प्रथम चरण में गंगा नदी से सटे पांच किमी के दायरे में आने वाली किसानों की जमीनों पर विशेष ध्यान दिया जाएगा।’’ बजट में फसल के उपरान्त मूल्य संवर्धन, घरेलू खपत को बढ़ाने तथा कदन्न उत्पादों की घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ब्रांंिड्रग करने के लिए प्रावधान किया गया है।
वित्त मंत्री ने घरेलू तिलहन उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए समग्र योजना के कार्यान्वयन की घोषणा की है। उन्होंने कहा, ‘‘तिलहनों के आयात पर अपनी निर्भरता कम करने के लिए तिलहनों के घरेलू उत्पादन को बढाने के उद्देश्य से एक तर्कसंगत और व्यापक योजना लागू की जाएगी।’’

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.