Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

चाईबासा : राष्ट्रीय मत्स्य कृषि मित्र कार्यक्रम में कोरोना  गाइडलाइन की उडी  धज्जियां, पड़ सकता है भारी

- Sponsored -

 ऐसे में कैसे रुकेगा करोना, लापरवाही तीसरी लहर को दे रहा है आमंत्रण

चाईबासा:   वैश्विक महामारी कोरोना से पूरा जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। विगत अप्रैल माह से ही लॉकडाउन लगा दिया गया है ।लॉकडाउन और कोरोना महामारी को लेकर आम जनजीवन और लोगों की आर्थिक स्थिति चरमरा सी गई है। कोरोना की दूसरी लहर ने जो कहर बरपाया और जानमाल की क्षति हुई उसकी भरपाई नामुमकिन है।

कोरोना संक्रमण के रोकथाम को लेकर लॉकडाउन लगा रही है और आए दिन संक्रमण से बचने के लिए गाइडलाइन आदि सरकार और स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किए जा रहे हैं ।वहीं दूसरी ओर कोरोना कोरोनावायरस से लोग पूरी तरह बेपरवाह और लापरवाह हो गए है। सिर्फ आम लोग ही नहीं सरकारी अधिकारी ,कर्मी ,सरकारी कार्यक्रमो मे भी कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जारी गाइडलाइन का पालन नहीं हो रहा है। कोरोना गाईडलाइन नियमों की धज्जियां उड़ रही है।

जिला मत्स्य कार्यालय में राष्ट्रीय मत्स्य कृषक दिवस कार्यक्रम में कोरोना गाइडलाइन , सोशल डिस्टेंसिंग की  जमकर धज्जियां उड़ी। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और कृषि मंत्री बादल पत्रलेख की उपस्थिति में ऑनलाइन आयोजित इस कार्यक्रम में जिले के उपायुक्त और विधायक की उपस्थिति में आयोजित कार्यक्रम में कोरोना गाइडलाइन नियमों को ताक पर रख दिया गया था। शायद इसका आभास अतिथियों और अधिकारियों को भी हुआ । कार्यक्रम में अव्यवस्था -अराजकता और कोरोनावायरस  को लेकर जारी दिशा-निर्देशों का जमकर उल्लंघन हुआ। महज छोटे से हॉल में आयोजित इस कार्यक्रम में काफी संख्या में कृषक मित्र और लोग शामिल हुए। जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग नहीं के बराबर थी।

कार्यक्रम में मीडिया को भी आमंत्रित किया गया था । मीडिया के लोग भी  जगह कम होने के कारण भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर पाए । कार्यक्रम में उपस्थित भीड  विभाग के अधिकारियों की लापरवाही कोरोना महामारी संक्रमण को आमंत्रण देने जैसा था। लेकिन यह अच्छी बात रही कि कार्यक्रम में आने वाले सभी लोग मास्क पहने हुए थे। मगर छोटे से हॉल में आयोजित इस कार्यक्रम और लोगों की भीड़ मास्क  पहने के बावजूद सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ने के साथ ही कोरोना संक्रमण महामारी को फैलाने के लिए काफी था । लेकिन सभी नियम कानून  मानो आम जनता- आम लोगों पर ही लागू होता है सरकारी अधिकारी- कर्मी ,विभाग नियम कानून की धज्जियां उड़ाते रहे लापरवाही बरतते रहे उनपर कोई कार्यवाही नहीं होगी। कोरोना के दूसरे फेज में हुए त्रासदी आर्थिक और जानमाल की क्षति का नुकसान से लोग अभी उबर भी नहीं पाए थे कि कोरोना के तीसरे लहर

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply