Live 7 Bharat
जनता की आवाज

चाईबासा:  पूजा सिंघल प्रकरण, खनन घोटाला, ईडी की कार्रवाई और मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद अवैध खनन परिवहन के खिलाफ प्रशासन ने चलाया अभियान

- Sponsored -

  जिले में खनिज संपदाओं का अवैध खनन और परिवहन कारोबार धड़ल्ले से जारी, डीएमओ से भी पूछताछ कर चुकी है ईडी
चाईबासा : झारखंड की चर्चित आईएस पूजा सिंघल प्रकरण और खनन घोटाले ईडी की कार्रवाई के बीच मुख्यमंत्री द्वारा सभी जिलों के डीसी एसपी एवं अधिकारियों को अवैध खनन एवं अवैध परिवहन पर रोक लगाने के सख्त निर्देश दिए जाने के बाद बीती रात्रि पश्चिमी सिंहभूम जिला के उपायुक्त  अनन्य मित्तल के निर्देशानुसार सदर अनुमंडल पदाधिकारी   शशिन्द्र कुमार बड़ाईक के नेतृत्व में जिला परिवहन कार्यालय तथा जिला खनन कार्यालय के कर्मचारियों के साथ हाटगम्हरिया चेक पोस्ट का निरीक्षण किया गया।

- Sponsored -

IMG 20220529 WA0001
निरीक्षण के क्रम में सदर  अनुमंडल पदाधिकारी के द्वारा वहां की कार्यशैली को  देखी गयी l एवं चेक पोस्ट के पास वाहनों की चेकिंग की गई l जिसमें वाहनों के सारे माइनिंग संबंधी दस्तावेज तथा परिवहन संबंधी दस्तावेज को देखा गया । उन्होंने कहा  कि माइनिंग तथा परिवहन संबंधित लापरवाही करने वालों से प्रशासन सख्ती से पेश आएगी l आने वाले समय में जिले के विभिन्न स्थानों पर माइनिंग तथा परिवहन संबंधित दस्तावेजों को चेक किया जाएगा तथा दोषी पाए जाने वालो पर दंडात्मक  कार्रवाई की जाएगी l बता दे कि जिला में भारी पैमाने पर धड़ल्ले से लौह अयस्क  और खनिज संपदाओं का अवैध खनन परिवहन एवं कारोबार होता है। और अवैध खनन परिवहन रोकने वाले संबंधित विभागों और उनके अधिकारियों के संरक्षण में खनिज संपदाओ का दोहन हो रहा है। खनन विभाग से लेकर अधिकारियों की जेब गर्म हो रही है। पूजा सिंघल प्रकरण में और खनन घोटाला को लेकर ईडी ने कोल्हान प्रमंडल के तीनों जिला खनन पदाधिकारियों को बुलाकर जिले में खनन अवैध खनन परिवहन कारोबार और लूट घोटाले को लेकर जवाब तलब किया है। खनन घोटाला को लेकर पूरे देश दुनिया में यह जिला चर्चित हुआ है।जिला में अवैध रूप से लौह अयस्क क्रशर, गिट्टी क्रेशर, ईट भट्ठा , बालू स्टॉक प्लॉट आदि चल रहा है। खनन विभाग कान में तेल डालकर सोया है । खनन टास्क फोर्स के अधिकारी कुंभकरनी निद्रा में है ।अवैध क्रशर अवैध खनन कर लाए गए पत्थरों, लौह अयस्कों की क्रशिंग कर रहा है। प्रदूषण फैला रहा है, नियम कानून को ताक पर रख रहा है । सिटीई और सिटीओ का उल्लंघन कर रहा है ।आसपास का क्षेत्र प्रदूषित कर रहा है। अवैध पत्थरों और लौह अयस्क के अवैध खनन से सरकारी राजस्व की क्षति पहुंच रही है। लेकिन खनन विभाग के अधिकारी की जेबें गर्म हो रही हैं। चाईबासा सहित जिले भर में अवैध गिट्टी क्रशरो की भरमार है। जहां आसपास के पहाड़ों को खोदकर अवैध खनन कर पत्थरों को लाया जाता है और क्रशिंग पिसाई कर कालाबाजारी की जाती है। पत्थरों के कई पहाड़ पत्थर माफियाओं ने अवैध खनन कर गायब कर दी है । वहीं जिले में सभी बालू घाटों की निविदा, ऑक्शन फेल है ।निविदा नहीं हुई है इसके बावजूद बालू घाटों से बालू का अवैध खनन उठाव और परिवहन हो रहा है बालू घाटो के आसपास बालू माफियाओं को बालू स्टॉक का लाइसेंस दिया गया है। बालुओ के स्टॉक की जांच नहीं होती कि बालू कहां से लाया गया है बालू को कैसे बेची जा रही है ,कितने में बेची जा रही है। कुल मिलाकर अवैध खनन, परिवहन और कारोबार धड़ल्ले से फल-फूल रहा है अवैध क्रशर ,अवैध खनन, अवैध परिवहन के बाद अवैध ईंट भट्ठा का भी संचालन नियम कानून को ताक पर हो रहा है और पूरे आसपास के क्षेत्र को प्रदूषित किया जा रहा है ।जिससे आम जनता को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है ।अवैध बालू लदे ट्रैक्टर ,ट्रक ,हाईवा सड़कों पर सरपट दौड़ रहे हैं ।ओवरलोडिंग का भी खेल हो रहा है। यहां भी खनन और परिवहन विभाग कर्तव्य विमुख और कुंभकरनी निंद्रा में है।
Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.

Breaking News: