Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

चाईबासा : मंगला हाट में 8 दुकानें जलकर स्वाहा, आगलगी की घटना पर मंत्री पूर्व पहुंचे

रविवार की देर रात्रि लगी आग से लाखों का संपत्ति जलकर हुआ खाक
पीड़ित दुकानदारों से मिलने पहुंचे मंत्री मिथिलेश ठाकुर सहयोग का दिया आश्वासन
मंगला हाट रात्रि में बना असामाजिक तत्वों का अड्डा शराब सिगरेट सहित सभी गलत कार्य है होते, आगलगी घटना से दुकानदारों में रोष
चाईबासा:  चाईबासा शहर के बीचोबीच  बस स्टैंड और मंडल कारा के पास स्थित चाईबासा का ऐतिहासिक मंगला हाट मे  रविवार की देर रात्रि भीषण आगजनी की घटना हुई ।जिसमें 8 दुकान जलकर स्वाहा हो गया। इस आगजनी में लाखों की संपत्ति जल गई। मंगला हाट में आगजनी और 8 दुकानों के जलने की घटना की जानकारी मिलने पर चाईबासा पहुंचे सुबह के पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री एवं चाईबासा नगर परिषद के पूर्व अध्यक्ष रहे मिथिलेश कुमार ठाकुर भी मंगला हाट पहुंचे और पीड़ित दुकानदारों से आगजनी की घटना की जानकारी ली । दुकानदारों को आगजनी मे हुए नुकसान का मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया। मंत्री ने आगजनी से पीड़ित दुकानदारों को तत्काल पंद्रह 15000 सहयोग प्रदान किया। बीती रात्रि  मंगला हाट स्थित दुकानों में भीषण आग लग गई, और देखते ही देखते दुकानें जलकर खाक हो गई। आग की ऊंची ऊंची लपटें उठने लगी और दुकानों में रखा सारा सामान धू-धू कर जलने लगा। 
अगलगी की घटना की सूचना मिलने पर पुलिस और अग्निशमन विभाग मौके पर पहुंची और काफी घंटों मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका।
 इस आगजनी में लाखों का नुकसान हुआ है दुकानदारों का कहना है कि जब एक माह से दुकान बंद है और दुकान की बिजली कटी है तो यह आग कैसे लगी यह जांच का विषय है इसमें प्रशासन को अपने अस्तर से जांच करनी चाहिए कि आखिरकार जब दुकान बंद है दुकान की बिजली कटी है तो फिर आग लगने का कारण क्या है, क्योंकि आए दिन मंगला हाट में आगजनी की घटना होती रहती है जिसमें वहां के दुकानदारों को काफी नुकसान होता है हम आपको बता दें कि चाईबासा के मंगला हाट में जूते चप्पल कपड़े मनिहारी आदि की दुकानें हैं, 2 वर्ष पहले भी इस तरह की घटना हुई थी जिसमें दर्जनों दुकानें जलकर खाक हो गई थी उस वक्त भी कहा गया था कि यह शॉर्ट सर्किट का मामला है मगर आज की घटना में दुकानदार यह मानने को तैयार नहीं है कि यह शॉर्ट सर्किट का मामला है इसलिए दुकानदारों ने प्रशासन से मांग की है कि वह अपने स्तर से इसकी जांच कराएं। दुकानदारों का यह भी आरोप है कि जब वह रात को वहां सोते थे । सभी अपनी-अपनी दुकानों की रखवाली किया करते थे।तो उन्हें क्यों प्रशासन के द्वारा हटाया गया तथा दुकानदारों ने प्रशासन से यह भी मांग की है कि पुलिस प्रशासन मंगला हाट में गस्ती बढ़ाएं। क्योंकि रात के अंधेरे में असामाजिक तत्वों के द्वारा नशा पान का सेवन मंगला हाट में किया जाता है। और उसके बाद असामाजिक तत्वों के द्वारा शायद इस तरह की घटनाओं को अंजाम दिया जाता है। दुकानदारोंं  मैं असामाजिक तत्वों के प्रति आक्रोश में देखा जा रहा है दुकानदारों ने पुलिस प्रशासन से अगलगी की घटना को अंजाम देने और दोषियों पर कार्रवाई की मांग की है। दादा की मंगला हाट चाईबासा का काफी ऐतिहासिक और पुराना हाट बाजार है और यहां सैकड़ों मनिहारी जूता चप्पल कपड़े खाद्य सामग्री वादी की दुकानें हैं।
Looks like you have blocked notifications!

Leave a Reply