Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

आॅक्सीजन की कमी से हुई मौत के लिए केंद्र जिम्मेदार: बन्ना

रांची : स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा है कि आॅक्सीजन की कमी के चलते हुई मौत के लिए केंद्र सरकार ही जिम्मेवार है। उन्होंने कहा कि कोविड महामारी की शुरुआत से पहले पिछले वर्ष के जनवरी, फरवरी और मार्च के माह में देश में औसतन 850 टन आॅक्सीजन प्रतिदिन मेडिकल क्षेत्र में उपयोग हो रहा था। अप्रैल 2020 से यह मांग बढ़ने लगी। 18 सितंबर तक हम तीन हजार टन प्रतिदिन इस्तेमाल करने लगे। कोरोना की दूसरी लहर में आॅक्सीजन की कमी से इसलिए मौतें हुर्इं क्योंकि सरकार ने आॅक्सीजन निर्यात 700 फीसदी तक बढ़ा दिया था। मंत्री ने कहा कि सरकार ने आॅक्सीजन ट्रांसपोर्ट करने वाले टैंकरों की व्यवस्था नहीं की। इसके अलावा अस्पतालों में आॅक्सीजन प्लांट लगाने में कोई सक्रियता भी नहीं दिखाई। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य राज्य मंत्री भारती प्रवीण पवार कहते हैं कि कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के दौरान किसी भी राज्य या केंद्र शासित प्रदेश से आॅक्सीजन के अभाव में किसी भी मरीज की मौत की खबर नहीं मिली है। उन्होंने कहा कि यह एक गैर जिम्मेदाराना बयान है, जिसकी जितनी निंदा की जाए कम है। आॅक्सीजन की कमी के कारण हुई मौत के लिए मोदी सरकार जिम्मेदार है। हर बात पर क्रेडिट लेने वाले प्रधानमंत्री को मौत के लिए सार्वजनिक तौर पर देश की जनता से माफी मांगनी चाहिए। कोरोना के कुप्रबंधन के बाद मोदी सरकार फर्जी आंकड़ों और झूठे जवाबदेही का सहारा लेकर बचना चाहती है।

Looks like you have blocked notifications!

Leave a Reply