Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

बस्ताकोला कोयला ट्रांसपोर्टिंग विवाद मामला:विधायक पूर्णिमा, आक्रोश व्यक्त करते हुए बैठी धरने पर

- Sponsored -

एसएसपी के आश्वासन पर मानी विधायक, मंगलवार को होगी त्रिपक्षीय वार्ता
झरिया/भगतडीह: बस्ताकोला एटी देवप्रभा आउटसोर्सिंग से कोयला ट्रांसपोर्टिंग में वर्चस्व को लेकर सिंह मेंशन और रघुकुल समर्थको के बीच हुए झड़प मामले के बाद मामला और गर्म होता जा रहा है। सोमवार की शाम झरिया विधायक पूर्णिमा नीरज सिंह ग्रामीणों के समर्थन में धरनास्थल पर बैठ गई। विधायक के धरने पर बैठने की सूचना जैसे ही प्रशासन को लगी। आनन फानन में डीएसपी टू अरविंद सिंह,सिंदरी डीएसपी अभिषेक कुमार सहित आधा दर्जन थानेदार पुलिस बल के साथ धरनास्थल पहुंच गए। विधायक को समझाने का प्रयास किया अंतत: दूरभाष पर एसएसपी संजीव कुमार से बात कराई गई। तय हुआ की मंगलवार को त्रिपक्षीय वार्ता होगी। जिसके बाद विधायक पूर्णिमा धरनास्थल से उठकर वापस हुई। ग्रामीण रैयतोंं ने धनसार पुलिस से दो दर्जन लोगों के विरुद्ध लिखित शिकायत देकर कार्रवाई की मांग की है।
महाप्रबंधक और ट्रांसपोर्टर लठैत भेज कार्य शुरू कराना चाहती है
धरना पर बैठी विधायक पूर्णिमा ने आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा की ग्रामीण 20 दिनों से रोजगार और मुआवजा को लेकर धरने पर बैठे हैं। महाप्रबंधक और ट्रांसपोर्टर लठैत भेज कर कार्य शुरू कराना चाहता है। प्रशासन धरनार्थियों से मारपीट की घटना के 24 घंटे बाद भी किसी की गिरफ्तारी नहीं की है। प्रशासन तत्काल मामले ने दोषी लोगों को गिरफ्तार करें। जब तक ग्रामीण रैयतों की मांग पूरी नहीं होगी,आंदोलन समाप्त नही होगा।
ऐसे भड़का मामला
कहा जा रहा है कि बस्ताकोला महाप्रबंधक कार्यालय में त्रिपक्षीय वार्ता होना था जिसमे ट्रांसपोर्टर बीसीसीएल के अधिकारी और जिला प्रशासन के अधिकारी को शामिल होना था। वार्ता करने के लिए विधायक पूर्णिमा अपने देवर सह धनबाद के पूर्व डिप्टी मेयर एकलव्य सिंह के साथ क्षेत्रीय कार्यालय पहुंची। देखा की वार्ता में मुद्दे से जुड़े संबंधित अधिकारी अनुपस्थित थे। विधायक ने नाराजगी जाहिर करते हुए बिना वार्ता किए क्षेत्रीय कार्यालय से निकल गई और आंदोलन स्थल पहुंचकर ग्रामीणों के साथ धरने पर बैठ गई। सूचना मिलते ही पुलिस अधिकारी धरनास्थल पर पहुंच गए।
20 दिनों से बंद है कोयला ट्रांसपोर्टिंग कार्य
उल्लेखनीय है की पिछले 20 दिनों से उक्त परियोजना से कोयला ट्रांसपोर्टिंग का कार्य बंद है। शनिवार को भाजपा नेत्री रागिनी सिंह ने महाप्रबंधक से वार्ता की थी। ट्रांसपोर्टिंग शुरू करवाने की मांग की थी। वार्ता के 4घंटे बाद ही झरिया के सिंह नगर में खड़े दो हाइवा में अपराधियों ने आग लगा दी थी। जिसके बाद रविवार को ट्रांसपोर्टिंग शुरू और बंद कराने को लेकर रघुकुल और सिंहमेंशन समर्थकों के बीच झड़प हो गई थी।
वार्ता कराई जाएगी, वार्ता के बाद कार्य शुरू होगा
इस संबंध में सिंदरी डीएसपी अभिषेक कुमार ने कहा की ग्रामीण की जमीन संबंधी समस्या है। मंगलवार को बीसीसीएल अधिकारियों से वार्ता कराई जाएगी। वार्ता के बाद ही कार्य शुरू होगा।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.