Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

दो नई आईपीएल टीमों में बड़े व्यापार समूहों ने दिखाई दिलचस्पी

- Sponsored -

नयी दिल्ली: अगले सीजन से आने वाली दो नई आईपीएल टीमों के लिए बड़े व्यापार समूहों ने दिलचस्पी दिखाई है। दरअसल भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की ओर से दो नई आईपीएल टीमों के लिए निविदा के लिए आमंत्रण (आईटीटी) दस्तावेजों की बिक्री की समयसीमा कल समाप्त हो गई है। समझा जाता है कि एक दर्जन से अधिक पार्टियों ने आईटीटी को खरीदा है, हालांकि इस बात को लेकर कोई निश्चितता नहीं है कि ये सभी पार्टियों अब से दो हफ्ते बाद टीमों के लिए बोली लगाने के लिए दुबई में उपलब्ध होंगी या नहीं। आईटीटी खरीदने वालों में कुछ बड़े व्यापार समूह भी शामिल हैं। इन बड़े समूहों में से एक अहमदाबाद का अडानी समूह भी है। बीसीसीआई के सूत्रों ने खुलासा किया है कि अहमदाबाद फ्रेंचाइजी खरीदने के लिए पसंदीदा गुजरात के इस बड़े व्यापार समूह ने आईटीटी को खरीदा है। हालांकि यह बात इस चीज का संकेत नहीं है कि ये व्यापार समूह निश्चित रूप से एक टीम के लिए बोली लगाएंगे, इसलिए इस चीज को केवल उनकी रुचि समझा जा रहा है न कि इच्छा। समूह के एक प्रवक्ता ने भी इस बारे में पुष्टि या खंडन दोनों चीजों से इनकार किया है। अहमदाबाद स्थित टोरेंट फार्मा, हैदराबाद स्थित अरंिबदो फार्मा, आरपीएसजी समूह के संजीव गोयनका, कुछ एजेंसियों और उद्यम पूंजीपतियों जैसे कुछ अन्य बड़े समूहों ने भी आईटीटी को खरीदा है। बीसीसीआई ने अहमदाबाद, लखनऊ, धर्मशाला, गुवाहाटी, रांची और कटक फ्रेंचाइजी को खरीदने के लिए उपलब्ध रखा है, जिसमें पहले दो नामित शहरों के लिए बड़ी बोली लगने की उम्मीद है।इस बीच यह भी सामने आया है कि कुछ व्यापार समूहों ने बीसीसीआई से बोली लगाने के इच्छुक व्यापार समूहों के लिए तय 2500 करोड़ रुपए की कुल संपत्ति और तीन हजार करोड़ रुपए के टर्नओवर के वित्तीय मानदंड को कम करने आग्रह किया था इस संबंध में बीसीसीआई को प्रश्न भेजे गए थे और समझा जाता है कि बोर्ड ने इस खंड में ढील देने या मानदंडों में कटौती करने से इनकार कर दिया है।बीसीसीआई ने स्पष्ट किया है कि वह टूर्नामेंट के वित्तीय रूप से विशिष्ट स्वरूप को बनाए रखने के अपने प्रयासों में कोई कमी नहीं चाहता है और उसने अपने 15 वर्षों में कोई बड़ी भुगतान चूक नहीं देखी है। रिकॉर्ड के लिए बीसीसीआई ने नई टीम के लिए दो हजार करोड़ रुपए आधार मूल्य रखा है। उल्लेखनीय है कि पहले आईटीटी की बिक्री की डेडलाइन पांच अक्टूबर थी। बीसीसीआई ने बाद में यह कहते हुए समय सीमा को पांच दिनों के लिए स्थगित कर दिया था कि इच्छुक पार्टियों की ओर से प्राप्त हुए अनुरोध के मुताबिक आईटीटी दस्तावेज खरीदने की तारीख को 10 अक्टूबर तक बढ़ाया जा रहा है। पार्टियों को आईटीटी खरीदने के लिए 10 लाख रुपए का भुगतान करना था जो नॉन रिफंडेबल है। बीसीसीआई ने यह भी कहा है कि नई टीमों की घोषणा 25 अक्टूबर को बंद बोली के बाद की जाएगी।

 

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply