Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

बजटसत्र:जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद 439 आतंकवादी मारे गए

- Sponsored -

नई दिल्ली :कोरोना प्रतिबंधों के बीच संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही का समय बदल दिया गया है। आज राज्यसभा की कार्यवाही सुबह 10 बजे ही शुरू हो गई। इस दौरान सांसदों ने मलेशिया में ज्वालामुखी विस्फोट में जान गंवाने वाले लोगों की याद में मौन रखा और इसके बाद फिर चर्चा शुरू हुई। इसके अलावा आज राज्यसभा में राष्ट्रपति के धन्यवाद प्रस्ताव पर भी चर्चा की जाएगी साथ ही एक फरवरी को पेश किए गए बजट पर भी बहस होगी। हालांकि दोनों सदनों में पेगासस के मुद्दे पर हंगामे के भी आसार हैं।

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद 439 आतंकवादी मारे गए: गृह मंत्रालय
राज्यसभा में गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने जानकारी देते हुए बताया कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद 439 आतंकवादी मारे गए। इस अवधि के दौरान 98 नागरिक और 109 सुरक्षाकर्मी भी मारे गए और आतंक की 541 घटनाएं हुईं।

भारत में आतंकवादी संगठनों की संख्या 42 हुई
केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्यसभा को जानकारी देते हुए बताया कि भारत में आतंकवादी संगठनों के रूप में नामित संगठनों की संख्या 42 है। यूएपीए की अनुसूची चार के तहत 31 व्यक्तियों को आतंकवादी के रूप में सूचीबद्ध किया गया है।

- Sponsored -

28 जनवरी, 2022 तक भारत में 16,427 निजी सुरक्षा एजेंसियां सक्रिय थीं: गृह मंत्राल्
केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्यसभा को जानकारी देते हुए बताया कि 28 जनवरी, 2022 तक भारत में 16,427 निजी सुरक्षा एजेंसियां सक्रिय थीं।

- Sponsored -

यह एक पूंजीवादी बजट: खड़गे
राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा है कि यह एक पूंजीवादी बजट है जिसमें किसानों, मनरेगा श्रमिकों और एससी/एसटी और ओबीसी समुदायों को देने के लिए कुछ भी नहीं है। यह बजट आगामी विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए तैयार किया गया है।

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद 439 आतंकवादी मारे गए
कोरोना प्रतिबंधों के बीच संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही का समय बदल दिया गया है। आज राज्यसभा की कार्यवाही सुबह 10 बजे ही शुरू हो गई। इस दौरान सांसदों ने मलेशिया में ज्वालामुखी विस्फोट में जान गंवाने वाले लोगों की याद में मौन रखा और इसके बाद फिर चर्चा शुरू हुई। इसके अलावा आज राज्यसभा में राष्ट्रपति के धन्यवाद प्रस्ताव पर भी चर्चा की जाएगी साथ ही एक फरवरी को पेश किए गए बजट पर भी बहस होगी। हालांकि दोनों सदनों में पेगासस के मुद्दे पर हंगामे के भी आसार हैं।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.