Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

शिक्षा नीति पर बिहार में बयानबाजी शुरू

शिक्षा नीति पर संजय जायसवाल ने किया नीतीश सरकार पर हमला

- Sponsored -

 

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने बिहार की शिक्षा नीति पर सवाल उठाते हुए, सीधे नीतीश सरकार पर निशाना साधा है। अग्निपथ योजना के विरोध में उठे प्रचंड बवाल के बीच, अब उन्होंने स्नातक स्तर रेगुलर करवाने की मांग कर दी है। संजय जायसवाल का कहना है की यह तीन सालों में स्टूडेंट की ग्रेजुएशन की डिग्री पूरी होनी चाहिए। साथ ही सरकार को सेशन की देरी पर ध्यान देना चाहिए।

संजय जायसवाल ने आगे कहा की मुझे तो हंसी आती है कि जेडीयू ने भी कह दिया कि अग्निपथ योजना पर पुर्नविचार करना चाहिए। उनके पास शिक्षा मंत्रालय है। वो खुद भी पुर्नविचार कर सकते हैं। आश्चर्य की बात यह है की अग्निपथ योजना के विरोध के दौरान संजय जायसवाल के घर पर भी हमला हुआ था जिस पर उन्होंने कहा था यह प्रशासन की लापरवाही के कारण यह हुआ है। अब इस संदर्भ में संजय जायसवाल जेडीयू को घेरने की कोशिश में लगे हैं।

 

- Sponsored -

जिस पर पटवार करते हुऐ जेडीयू के मुख्य प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा है की उच्‍च शिक्षा के सत्र में विलम्‍ब के लिए सवाल उठाने वाले को यह जानकारी जरूर होगी कि राज्‍य सरकार के माननीय मंत्री और शिक्षा विभाग के पदाधिकारी सत्र को नियमित करने के लिए कुलाधिपति, कुलाधिपति कार्यालय, विभिन्‍न विश्‍व विद्यालय के कुलपति एवं विश्‍वविद्यालय के पदाधिकारी के स्‍तर पर लगातार बैठक कर इस दिशा में सार्थक पहल करते रहे हैं।

- Sponsored -

आगे उन्होंने कहा कि राजनीतिक महानुभाव को इस बात की जानकारी जरूर होगी क्‍योंकि वो खुद भी स्‍नातक हैं कि विश्‍व विद्यालय शिक्षा के प्रशासनिक ढाँचे के प्रमुख महामहिम कुलाधिपति होते हैं। सवाल उठाने वाले क्‍या महामहिम कुलाधिपति पर सवाल खड़ा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि राजनीतिक महानुभाव को इस बात की जानकारी होगी कि केन्‍द्र सरकार के अनुशंसा पर महामहि‍म कुलाधिपति जो महामहि‍म के रूप में पदस्‍थापित हैं तो फिर क्‍या केन्‍द्र सरकार के अनुशंसा अथवा अनुशंसा के आधार पर नियुक्ति करने वाले पर यह सवाल उठा रहे हैं?

 

हालाकि प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल का कहना कि अग्निपथ योजना को लेकर जदयू ने पूर्नविचार की मांग की थी। जब उनके पास शिक्षा मंत्रालय है तो वह खुद क्यों नहीं पूर्नविचार कर सकते हैं। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि सरकार पहले स्नातक सत्र रेगुलर करा दे और सेशन की देरी पर ध्यान दें।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Leave A Reply