Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

घायल मजदूरों से मिलने बाघमारा पहुंचे बगोदर विधायक, मजदूरों में दिखा भय

- Sponsored -

लाठीचार्ज के बाद बेनीडीह रेलवे साइडिंग में पसरा सन्नाटा,त्रिपक्षीय वार्ता में बनी सहमति
बाघमारा। ब्लॉक दो क्षेत्र के बेनीडीह साइडिंग में आंदोलनरत मजदूरों पर हुए लाठीचार्ज की घटना में घायल मजदूरों का कुशल छेम लेने बाघमारा पहुंचे बगोदर विधायक बिनोद सिंह की घोषणा पर मजदूरों ने अमल नहीं किया। लाठीचार्ज की घटना पर कड़ी निंदा प्रकट करते हुए बगोदर विधायक ने घोषणा किया था कि घटना के विरोध में धनबाद के सभी प्रखंडों पर सोमवार को प्रतिवाद आंदोलन किया जाएगा। साथ ही मंगलवार को धनबाद रणधीर वर्मा चौक पर धरना का आयोजन होगा लेकिन सोमवार को मजदूरों द्वारा किसी प्रकार का प्रतिवाद नहीं किया गया। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार विधायक के घोषणा पर सुबह में दर्जनों की संख्या में सेल पीकिंग मजदूर साइडिंग पहुंचे थे। इसी बीच पुलिस की उपस्थिति देख सभी मजदूर खिसक लिए। मजदूरों से पूछे जाने पर बताया कि धनबाद एसडीएम के समक्ष मजदूर प्रतिनिधियों की वार्ता हो रही है। वार्ता में निष्कर्ष निकलने के बाद ही कोई निर्णय लिया जाएगा। इधर घटना के बाद से साइडिंग में सन्नाटा पसर गया है। लाठीचार्ज की घटना से पूर्व मजदूरों द्वारा बनाये गए भोजन जैसे के तैसे पड़ा हुआ है। जिसे मवेशी अपना निवाला बना रहा है। वहीं घटना के बाद ट्रांसपोर्टिंग कंपनी द्वारा परिवहन कार्य शुरू कर दिया था लेकिन थोड़ी देर बाद ही कुछ युवक आये और काम बंद रखने की बात कह चलते बने। जिसके बाद से अब तक ट्रांसपोर्टिंग कंपनी का कार्य बाधित है। हालांकि केशरगढ़ साइडिंग का कार्य चालू हो गया है।
मजदूरों पर लाठीचार्ज की घटना बर्दास्त नहीं:बिनोद
घटना के बाद रविवार देर रात्रि सीएचसी बाघमारा पहुंचे बगोदर विधायक बिनोद सिंह ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि मजदूरों पर बर्बरता पूर्वक किये गए लाठीचार्ज बर्दास्त योग्य नहीं है। मामले को विधानसभा में उठाने का काम किया जाएगा। उन्होंने मजदूरों को ढांढस बंधाया की किसी भी तरह से मजदूरों के हक मारने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। मजदूरों से मिलने के बाद विधायक पैदल ही बाघमारा थाना पहुंचे। वहां मौजूद अंचल अधिकारी कमल किशोर सिंह तथा इंस्पेक्टर राजकपूर से पूछा कि आखिर किस परिस्थिति में असहाय मजदूरों पर लाठी भांजी गयी। प्रशासन बीसीसीएल प्रबंधन से मजदूरों की अचानक छंटनी पर जवाब माँगने के बजाय निजी आउट सोर्सिंग कम्पनी के पक्ष में लाठी भांज रही है। इस पर अधिकारियों ने मौन साध लिया। विधायक ने कहा कि लाठीचार्ज कराने वालों की बर्खास्तगी की मांग मुख्यमंत्री से किया जाएगा।
त्रिपक्षीय वार्ता में बनी दो माह के वेतन भुगतान पर सहमति
मांगों को लेकर धनबाद एसडीएम प्रेम कुमार तिवारी की उपस्थिति में आयोजित प्रबंधन तथा मजदूर प्रतिनिधियों के बीच त्रिपक्षीय वार्ता में सहमति बनी की सेल पीकिंग मजदूरों को दो माह का वेतन भुगतान किया जाएगा। साथ ही 60 वर्ष से अधिक उम्र वाले मजदूरों का कंपनी में जितना भी पीएफ या ग्रेच्यूटी ड्यूज है उसका भुगतान कर उन्हें कार्य से बैठा दिया जाएगा। वहीं अन्य मांगों पर मजदूर नेता बलदेव वर्मा की रिहाई के बाद चर्चा करने का निर्णय लिया गया। कंपनी के अधीन जितने भी उचित मजदूर है उन्हीं के वेतन से कटौती कर सभी मजदूरों में समान रुप से भुगतान करने की बात कही गयी। वार्ता में प्रबंधन की ओर से ब्लॉक दो क्षेत्र के जीएम चितरंजन कुमार,एसएमएस जेवि के मुकेश जिंदल,बाघमारा अंचल अधिकारी कमल किशोर सिंह,डीएसपी निशा मुर्मू तथा मजदूरों की ओर से निरसा के पूर्व विधायक अरूप चटर्जी,उपेंद्र सिंह,कृष्णा सिंह,नकुल महतो,रामेश्वर साव, कार्तिक महतो,झमुमो के कारू यादव, अर्जुन कुम्हार,रामदास कुम्हार,सत्यनारायण नोनियां सहित अन्य शामिल थे।

 

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply