Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

कैंसर पीड़ित पुत्र के इलाज को लेकर बेबस मां ने समाज से लगाई गुहार

- Sponsored -

झरिया/भगतडीह: मेरे इकलौते पुत्र को बचा लो। आपका एहसान जीवन भर नही भूलूंगी। यह दर्द की इंतहा है समाज के लोगों से गुहार लगाती एक बेबस मां और पिता की। असाध्य रोग कैंसर से पीड़ित 30 वर्षीय पुत्र शिवनंदन पासवान जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रहा है। बेबस पिता के पास इतने पैसे नहीं है कि वह अपने इकलौते चिराग का इलाज करा सके। विक्ट्री निवासी शिवनंदन को मदद की जरूरत है।कैंसर पीड़ित बेटे का समुचित इलाज न करा पाने का मलाल मां इलायची देवी और पिता रामजनम पासवान को है। पिता रामजनम नगर निगम में सफाईकर्मी का काम करते थे। कुछ दिन पूर्व ही इन्हें काम से भी बैठा दिया गया है। अब बेटे का इलाज तो दूर घर मे खाने के लाले पड़े हुए हैं। किसी तरह दूसरों की मदद से शिवनंदन का इलाज टीएमसी अस्पताल जमशेदपुर मे कराया जा रहा है। अब इसके इलाज के लिए प्रत्येक सप्ताह सात हजार की जरूरत है। यह रकम इस परिवार के सामने पहाड़ जैसा लगने लगा है। ऐसे मे एक लाचार मां और पिता को मसीहा का इंतजार है। जो इसके बेटे के इलाज मे मदद करा सके। शिवनंदन का हाथ बचपन में जल गया था। जहां एक साल पूर्व उसे इसी हाथ मे कैंसर पकड़ लिया।अब शिवनंदन इलाज के लिए दर दर भटकने के लिए मजबूर है। इस परिवार पर दुखो का पहाड़ उस वक्त टुट पड़ा जब एक साल पूर्व ही शिवनंदन की पत्नी मेतर देवी का देहांत हो गया। उसका एक पांच साल का एक पुत्र सौरभ है। मेतर देवी के मौत को यह परिवार भुला भी नहीं पाया था कि शिवनंदन को कैंसर होने की बात सामने आते ही इस परिवार पर दुखो का पहाड़ टूट पड़ा।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.