Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

बाबा गोरक्षनाथ की नगरी मकर संक्रांति के लिये तैयार

- Sponsored -

गोरखपुर :उत्तर प्रदेश के धार्मिक एवं सांस्कृतिक शिवावतारी बाबा गोरक्षनाथ की नगरी गोरखपुर और आसपास के जिलों में मकर संक्रान्ति से पहले चूड़ा, लायी, पट्टी एवं तिलकुट की बहार है और इन्हें खरीदने के लिए दुकानों पर भीड़ लगी हुयी है।
शहर में ऐसा कोई चौराहा या गली नहीं है जहां पर चूड़ा,लायी,पटटी,तिलकुट तथा गजक की दुकानें न सजी हों। मकर संक्रान्ति का पर्व 15 जनवरी को है। पूर्वी उत्तर प्रदेश,बिहार तथा पड़ोसी देश नेपाल में यह पर्व बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। परम्परा के मुताबिक लोग त्योहार पर इन सब वस्तुओं की जम कर खरीददारी करते हैं। कुछ लोग इन चीजों की खरीददारी करके उन्हें अपने पास रखते हैं तो कुछ रिश्तेदारों विशेष कर बहन और बेटियों के ससुराल के ससुराल में भेजते हैं।
इस बार दुकानदार आकर्षक ढंग से पैंंिकग भी कर रहे हैं। जिन स्थानों पर पट्टियां बनाने के लिए गुड़ पकाया जाता है वहां से गुजरने पर विशेष तरह की खुशबू कर अलग ही अनुभव होता है। आगरा का तिल लड्डू, बिहार का तिलकुट, बंगाल का रामदाना, कानपुर की गजक एवं लखनऊ की रेवड़ी इस बार लोगों को खूब भा रही है। परम्परागत वस्तुओं के साथ ही साथ इस समय सजावटी सामानों की भी भरमार है।
इन सामानों की सबसे बडी खासियत यह होती है कि यह गुड़, चीनी, मुंगफली, तिल लायी तथा रामदाने से बनाये जाते हैं और महीनों खराब नहीं होते हैं। इन चीजों की खपत केवल जाडों के मौसम में रहती है। कीमत ज्यादा नहीं होने से गरीब भी इन्हें खरीद सकते हैं। गोरखपुर में स्थित गोरखनाथ मंदिर में मकर संक्रन्ति के अवसर पर आगामी 15 जनवरी से एक माह तक चलने वाला खिचडी मेला में पहले से दुकाने सज गयी हैं। इस मेले में पडोसी देश नेपाल के अलावा बिहार से भी हजारों श्रद्धालु गोरखपुर आकर शिवावतारी गोरखनाथ बाबा को खिचडी .तेल, चावल, गुड, नमक और घी आदि चढाते हैं।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Leave A Reply

Your email address will not be published.