Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

मयूरहंड में जागरूकता शिविर का हुआ आयोजन

- Sponsored -

मयूरहंड(चतरा): शुक्रवार को मयूरहंड प्रखंड मुख्यालय स्थित पंचायत सचिवालय में जिला विधिक सेवा प्राधिकार के द्वारा जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें प्राधिकार के सचिव मोहम्मद उमर मुख्य रूप से उपस्थित थे। सचिव ने लोगों को नि:शुल्क विधिक सहायता के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए कहा कि देश के अधिकांश लोग निर्धन एवं अशिक्षित हैं जो सामाजिक न्याय से वंचित रह जाते हैं। न्यायालयों में मुकदमों की संख्या अधिक होने के कारण शीघ्र एवं सस्ता न्याय मिलना बहुत कठिन हो गया है। संविधान के अनुच्छेद 39(क) में हर नागरिक को सामाजिक न्याय प्रदान करने की बात की गई है। जिसके कारण कोई भी व्यक्ति आर्थिक या किसी अन्य कारण से न्याय से वंचित नहीं रह सकता है। हर नागरिक को समान अवसर के साथ आसानी से न्याय भी उपलब्ध होना चाहिए। इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए 1987 में विधिक सेवा प्राधिकरण अधिनियम के अंतर्गत केंद्र राज्य व जिला स्तर पर विधिक सेवा प्राधिकरणों एवं उच्च न्यायालय विधिक सेवा समिति, उप समिति एवं तहसील विधिक सेवा समिति का गठन किया गया है। विधिक सेवा प्राधिकार द्वारा सरकारी खर्च पर वकील, कोर्ट फीस के लिए राशि, कागजातों को तैयार करने का खर्च, गवाहों को आने-जाने के अलावा मुकदमे से संबंधित अन्य जरूरी खर्च उपलब्ध करवाया जाता है। नि:शुल्क सेवा पाने के हकदार अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के सदस्य, अनैतिक अत्याचार के शिकार लोग के अलावा मानसिक रोगी एवं दिव्यांगों के अलावे जिनका वार्षिक आय तीस हजार से अधिक नहीं है ओ सभी हैं। मौके पर पीएलभी दयानंद कुमार शर्मा, मोहम्मद मुजाहिर हुसैन, प्रभु कुमार यादव, मुखिया इश्वर पासवान, पूर्व मुखिया अनिल कुमार सिंह, उप मुखिया राजु साव के अलावा दर्जनों ग्रामीण उपस्थित थे।

 

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.