Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

जैसा कप्तान चाहता है, मैं वैसी गेंदबाजी करता हूं : आवेश

- Sponsored -

दुबई: चेन्नई सुपर किंग्स के ख़लिाफÞ पहले क्वालीफयर में आवेश खान दिल्ली कैपिटल्स के लिए सबसे महंगे गेंदबाज साबित हुए। उन्होंने इस मैच में 47 रन देकर एक विकेट लिया। हालांकि वह इस सीजन दूसरे सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं। क्वालीफायर से पहले सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाजों में आवेश ऐसे शीर्ष पांच गेंदबाजों में से हैं, जिनकी इकॉनमी सात से कम थी। आवेश ने क्रिकइंफो के साथ बातचीत में कहा,”भारत के लिए खेलने का सपना देखने वालों के लिए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) एक दरवाजे की तरह है। इस सीजन हर एक मैच खेलने से मुझमें आत्मविश्वास आया है। हर साल मैं यही तैयारी करता था कि मुझे पहले मैच से ही मौक मिलेगा, लेकिन दुर्भाग्य से ऐसा कभी नहीं हुआ। पिछले दो साल में मुझे बस एक-एक मैच मिले। इस सीजन पहले दो मैचों के लिएकैगिसो रबादा और एनरिक नोर्त्जे उपलब्ध नहीं थे, जबकि इशांत भाई फÞटि नहीं थे। उस समय ऋषभ पंत ने मुझ पर विश्वास दिखाया। मेरा लक्ष्य था कि अगर मुझे पहले मैच से मौक मिले तो मैं उसे दोनों हाथ से लपकूंगा और ऐसा प्रदर्शन करूंगा जो टीम की जीत में सहायक हो।’ उन्होंने कहा,”हमने इस साल 13 मैचों में से सिफर्Þ तीन मैच ही गवाएं हैं और ये भी एकदम निकट के मैच थे। कोई एक तरफ मैच नहीं था। चेन्नई के ख़लिाफÞ पहले मैच में मैंने अच्छी लय पकड़ी। हमारी गेंदबाजी अच्छी रही। मानसिक रूप से मैं स्थिर और शांत था। धीरे-धीरे मैं डेथ ओवर के साथ-साथ पावरप्ले में भी गेंदबाजी करने लगा।” धोनी का विकेट लेने के बारे में पूछने पर आवेश ने कहा,”जब माही भाई बल्लेबाजी करने आए, तो ऋषभ ने मुझसे मिड आॅन और मिड आॅफÞ रखने को कहा। उन्होंने कहा कि अगर वह (धोनी) आपको सिर के ऊपर से भी मारेंगे, फिर भी कोई दिक्Þकत नहीं है। आप बस ओवरपिच गेंदे ना डाले और अपनी लेंथ को पकड़कर ही गेंदबाजी कीजिए। पहले तो मैं पंत से सहमत नहीं था लेकिन फिर मैंने उनकी बात मानी। दूसरी ही गेंद को धोनी ने ऊपर से मारना चाहा और हमें विकेट मिला।” धोनी का विकेट दुबारा मिलाने के बारे में तेज गेंदबाज ने कहा,”एक बार फिर से ऋषभ से मैंने बात की। उन्होंने मुझसे हार्ड लेंथ पर गेंद डालने को कहा, जहां से शॉट लगाना आसान नहीं होता। मैंने वैसी ही गेंद की और वह बाहरी किनारे का शिकार बने। इस ओवर से पहले मेरी पंत से बात हुई थी। मैंने उनसे कहा था कि मैं वाइड यॉर्कर गेंद फेकूंगा। माही भाई के लिए अलग योजना थी, रायुडू भाई के लिए अलग। जड्डू भाई के लिए मैं लेग साइड की लंबी बाउंड्री का इस्तेमाल करना चाहता था। चूंकि उस समय जड्डू भाई अच्छी लय में थे और तेज गेंदों को अपने पक्ष में कर सकते थे, इसलिए मैंने उनको स्लोअर गेंदे की।’ हर्षल पटेल और आप इस आईपीएल के दो सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं। आप दोनों ने लगातार डेथ ओवर में यॉर्कर गेंदबाजी की है। आपने इस पर काफी काम किया है? इस बारे में पूछने पर आवेश ने कहा,”यह मैच की परिस्थितियों पर निर्भर करता है। मुंबई के ख़लिाफÞ मैच में मैंने एक ओवर में चार यॉर्कर गेंदे फेंकी, जिसमें हार्दिक पांड्या का विकेट शामिल है। शारजाह की विकेट स्लो थी इसलिए मैंने स्लो यॉर्कर और स्लो बाउंसर गेंदों का मिश्रण किया। फ्लैट विकेटों पर यॉर्कर गेंदे बहुत उपयोगी होती हैं। आपने छह बार 20वां ओवर किया है। आपको अच्छा लगता होगा कि टीम आप पर इतना विश्वास करती है? यह मेरे लिए अच्छा है कि टीम मैनेजमेंट और पंत मुझ पर विश्वास करते हैं। हमारी योजनाएं बहुत साफÞ हैं। मैं ऐसा गेंदबाज बनना चाहता हूं जो कि कप्तान से बात करे और उनकी सुन सके। मैं पंत के साथ अंडर-19 दिनों से साथ खेला हूं। मैं, पंत और अक्षर मैच के बाद हर रोज देर रात तक बैठते हैं और मैच के बारे में चर्चा करते हैं। पंत विकेट के पीछे से हमेशा इशारे करते रहते हैं। वह क्या चाहते हैं, मैं समझता हूं। सब कुछ टीवी पर नहीं दिख सकता। प्रमुख कोच रिकी पोंंिटग के बारे में आवेश ने कहा कि इस सीजन के तीसरे मैच के बाद उन्होंने मुझे अनसंग हीरो (गुमनाम नायक) कहा था। लेकिन कोलकाता नाइट राइडर्स के ख़लिाफÞ तीन विकेट झटकने के बाद उन्होंने ‘नायक’ कहा। उन्हें सुनना आपको रोमांचित करता है। वह सबके सामने पूरे ड्रेंिसग रूम में आपकी तारीफÞ करते हैं, जो कि सुखद है। मैच के दिन वह आपके कंधे पर हाथ रखकर चीजों को सरल रखने के लिए कहते हैं। मैंने इस सीजन के 13 मैचों में उनसे कुल आठ बार प्रशंसा बैज प्राप्त किया है, जो कि वह हर मैच के बाद टीम के तीन खिलाड़यिों को देते हैं।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply