Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

बचपन में चाय बेचने वाले मोदी जब काशी में पहुंचे अस्सी स्थित ‘पप्पू चाय की दुकान’ पर

- Sponsored -

वाराणसी:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी में अपने रोड शो के दौरान आज नगर के अस्सी चौराहे पर स्थित ‘पप्पू चाय की दुकान’ पर चाय की चुस्कियां लीं। गुजरात के बडनगर रेलवे स्टेशन पर बचपन में मोदी चाय बेचते थे। इस वजह से मोदी ‘चाय’ के साथ अपने भावनात्मक रिश्ते का अक्सर उल्लेख करते हैं।
मोदी वाराणसी में शुक्रवार को रोड शो पूरा कर काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन पूजन करने पहुंचे थे। वहां से वह काशी ंिहदू विश्वविद्यालय के ंिसहद्वार की ओर रवाना हुए। रास्ते में अस्सी चौराहे पर स्थित ‘पप्पू चाय वाले की दुकान’ पर उन्होंने अपना काफिला रुकवाया। वह अपनी कार से बाहर निकलकर चाय की दुकान पर आ गए और वहां बैठकर उन्होंने चाय की चुस्कियां लीं।
इस चाय की दुकान पर शाम को काशीवासियों का जमावड़ा होता है। दुकान पर चाय की चुस्कियों के बीच देश दुनिया के घटनाक्रम पर गर्मागर्म चर्चायें होती हैं। चर्चाओं के इस दौर में आध्यात्म से लेकर दुनिया जहान की राजनीति पर माथापच्ची भी होती है।
मशहूर उपन्यासकार काशीनाथ ंिसह ने अपनी पुस्तक ‘काशी का अस्सी’ में इस दुकान का विस्तार से जिक्र किया है। काशी के बारे में जानकारी हासिल करने का कोई भी जिज्ञासु ‘पप्पू चाय की दुकान’ पर अवश्य पहुंचता है।
मोदी ने रोड शो के अंतिम चरण में काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के ंिसहद्वार पर इस विश्वप्रसिद्ध शिक्षण संस्थान के संस्थापक महामना पंडित मदन मोहन मालवीय की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। ंिसहद्वार पर विद्यार्थियों सहित हजारों काशीवासियों ने हर हर महादेव के जयघोष साथ मोदी का स्वागत किया। प्रधानमंत्री ने ंिसहद्वार पर पहले से मौजूद स्थानीय लोगों की भीड़ को अभिवादन कर महामना को श्रद्धासुमन अर्पित किये और कुछ क्षण रुक कर वापस चले गये। गौरतलब है कि मोदी रात्रि विश्राम वाराणसी में ही करेंगे।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.