Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

झारखंड में ब्लैक फंगस से एक और मरीज की मौत, अब तक 20 ने गंवायी जान

राज्य में ब्लैक फंगस के अब तक 121 मरीज मिल चुके हैं
रांची : झारखंड में कोरोना से ठीक हो चुके लोगों में साइड इफेक्ट में सबसे ज्यादा गंभीर समस्या के रूप में ब्लैक फंगस यानी म्यूकोरमायोसिस सामाने आया है। झारखंड में शुक्रवार को इस बीमारी से जमशेदपुर में एक और मरीज की मौत हो गयी। ब्लैक फंगस से अब तक 20 मरीजों की मौत हो चुकी है। रांची में 6 और जमशेदपुर में 5 लोगों की मौत हो गयी है। वहीं धनबाद व रामगढ़ में दो-दो तथा चतरा, देवघर, दुमका, हजारीबाग व लातेहार में एक-एक मरीज की मौत हो चुकी है। झारखंड में ब्लैक फंगस के अब तक 121 मरीज मिल चुके हैं। इसमें 76 कंफर्मड और 45 संदिग्ध मरीज हैं। इनमें सबसे ज्यादा रांची में 43 और जमशेदपुर में 19 मरीज मिले हैं। वहीं हजारीबाग में 8, रामगढ़ व गढ़वा में7-7, गिरिडीह में 6, धनबाद में 5, चतरा व कोडरमा में 4-4 मरीज मिले हैं। दूसरी ओर राज्य में ब्लैक फंगस के अब तक 15 मरीज स्वस्थ भी हो चुके हैं। ब्लैक फंगस का सबसे ज्यादा असर आंखों पर हो रहा है। इससे लोगों की मौत भी हो जा रही है। झारखंड में फिलहाल इस बीमारी को महामारी घोषित नहीं किया गया है बावजूद इसके राज्य सरकार अपने स्तर से इसके मरीजों का इलाज करा रही है।
राज्य में कोविड से रिकवरी दर 97़ 20 प्रतिशत
झारखंड कोविड महामारी की दूसरी लहर का सामना कर रहा है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोविड वायरस के प्रसार को रोकने, उससे बचाव व रोकथाम के लिए विविध स्तर पर आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं। राज्य में अब तक कुल 89,83,236 लोगों की कोरोना जांच की गई है। राज्य में कोविड से रिकवरी दर 97़ 20 प्रतिशत और मृत्यु दर 1़48 प्रतिशत है। राज्य में कुल 4,514 सक्रिय मामलों में से 3,397 (75़ 25 प्रतिशत) मामले एसिम्टोमेटिक तथा 1117 मामले (24़ 75 प्रतिशत) सिम्टोमेटिक श्रेणी के हैं। 10 जून तक राज्य में 5,081 लोगों की कोविड से मृत्यु हुई है। 10 जून तक कुल 40,34,987 लोगों को वैक्सीन की प्रथम डोज दी गई है। राज्य में अब तक कुल 7,65,626 लोगों को दूसरा डोज भी दिया जा चुका है। 18-44 आयु वर्ग के 8,86,281 लोगों को प्रथम डोज लगा दी गई है। राज्य में 45 प्लस के लिए कुल 6,50,300 और 18 प्लस के लिए 1,33,980 वैक्सीन उपलब्ध है।
अब तक 2.64 करोड़ लोगों का किया गया हेल्थ सर्वे
राज्य में हेल्थ सर्वे कराया जा रहा है। 25 मई से 07 जून तक कुल 53,23,759 घरों का सर्वे किया जा चुका है, जिसमें 2,64,32,402 व्यक्तियों का सर्वे किया गया है। कुल 2,08,809 व्यक्तियों में बुखार के साथ सर्दी, खांसी के लक्षण पाए गए। कुल 16,677 व्यक्तियों में टीबी के लक्षण पाए गए। वहीं 1,17,538 व्यक्तियों में मधुमेह (शुगर) के लक्षण और कुल 1,19,478 व्यक्तियों में बीपी/दिल की बीमारी से संबंधित लक्षण पाए गए हैं। कुल 2,08,809 व्यक्तियों को कोरोना जांच के लिए अनुशंसित किया गया है। कुल 2,08,809 की जांच की जा चुकी है। कुल 981 संक्रमित पाए गए हैं। जांच अभियान के दौरान 0 से 1 वर्ष के 03 बच्चे, 1 से 6 वर्ष का 01 बच्चा तथा 6 से 18 वर्ष के 35 बच्चे यानी कुल 39 बच्चे कोविड से संक्रमित पाए गए हैं। कुल 11 व्यक्तियों को कोविड केयर सेंटर रेफर किया गया है।

Looks like you have blocked notifications!

Leave a Reply