Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

अंकिता हत्याकांड: झारखंड पुलिस ने किया एसआईटी का गठन, मृतका के घर पहुंची टीम

- Sponsored -

दुमका :झारखंड के दुमका में 12वीं कक्षा की छात्रा अंकिता की मौत के मामले में पुलिस अधीक्षक की अध्यक्षता में विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया गया है। झारखंड पुलिस के एडीजी मुख्यालय की ओर से यह जानकारी दी गई है।एडीजी मुख्यालय एमएल मीणा ने बताया कि मामले में अब तक 2 आरोपियों को गिरफ़्तार किया है। मामले में हर नजरिए से जांच जारी है। उन्होंने बताया कि अंकिता की हत्या का मामला काफी गंभीर है, इसलिए जांच के लिए बनाई गई एसआईटी की निगरानी पुलिस अधीक्षक करेंगे। मंगलवार को सीआईडी के डीएसपी संदीप कुमार गुप्ता के नेतृत्व में 10 सदस्यीय जांच दल दुमका में अंकिता के घर पर पहुंचा। टीम में सीआईडी, फॉरेंसिक साइंस लेबोरेटरी और फिंगर प्रिंट ब्यूरो के सदस्य शामिल हैं।
इससे पहले राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) ने सोमवार को कहा कि उसने झारखंड के पुलिस प्रमुख को पत्र लिखकर दुमका में एक युवती को जलाने की घटना की निष्पक्ष जांच करने को कहा है। आयोग ने सात दिनों के भीतर पुलिस से कार्रवाई रिपोर्ट देने को कहा है। इस घटना में झारखंड के दुमका में 23 अगस्त को शाहरुख नामक एक युवक ने एकतरफा प्यार में असफल होने पर 12वीं कक्षा में पढ़ने वाली 19 साल की युवती को जिंदा जला दिया था। घटना में 90 फीसदी झुलस गयी युवती को इलाज के लिए रांची स्थित रिम्स में भर्ती कराया गया था, जहां रविवार तड़के ढाई बजे उसकी मौत हो गयी।
महिला आयोग ने इस घटना की मीडिया में आयी खबरों पर गौर किया। उसने एक बयान में कहा, ‘आयोग सामने आए इस अपराध से दुखी है और उसने इस मामले का संज्ञान लिया है। अध्यक्ष रेखा शर्मा ने झारखंड के पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखकर इस मामले में गौर करने और यह सुनिश्चित करने को कहा है कि समयबद्ध तरीके से निष्पक्ष जांच पूरी (आयोजित) हो।’ बयान के अनुसार पत्र की एक प्रति दुमका के पुलिस अधीक्षक को भी भेजी गई है। इसमें कहा गया है कि मामले में की गई कार्रवाई से आयोग को सात दिनों के अंदर अवगत कराया जाना चाहिए।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.