Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

समझाने और भ्रांति दुर करने के बाद ग्रामीणो ने वैक्सीन लेने का दिया आश्वासन

मनीरामपुर गांव में फैला दी गयी थी कोविड का टीका लेने पर बांझपन और मौत होने की अफवाह
राम प्रसाद सिन्हा
पाकुड़: शासन प्रशासन के साथ ही राजनीतिक दलो एवं सामाजिक संगठनो के अलावे गैर सरकारी संगठनो द्वारा जहां कोविड वैक्सिनेशन को सफल बनाने के लिए जागरूक अभियान चलाये जा रहे है वही दुसरी ओर कुछ असमाजिक तत्वों द्वारा अफवाह फैला दिये जाने के कारण ग्रामीण कोविड का टीका लेने से न केवल हिचकिचा रहे है बल्कि वैक्सीन लेने से सीधा इंकार भी कर रहे है। अफवाहे फैला दिये जाने की वजह से खासकर प्रशासन को काफी परेशानियो का सामना करना पड़ रहा है। यह तो गनिमत है कि कुछ अधिकारियो, पंचायत प्रतिनिधियो एवं मौलाना की सजगता और संवेदनशीलता की वजह से फैलायी गयी भ्रांति न केवल दुर हो रही है बल्कि लोग कोरोना वैक्सीन लेने के लिए तैयार भी हो रहे है। ऐसा ही एक उदाहरण सदर प्रखंड के मनीरामपुर में सोमवार को देखा गया। मनीरामपुर पंचायत के कई गांवो में कुछ असमाजिक तत्वांें द्वारा यह अफवाह फैला दी गयी कि कोरोना का टीका लेने से मौत हो जायेगी। इतना ही नही यह भी अफवाह फैला दी गयी कि जो कोरोना का टीका लेगा व बांझपन का शिकार हो जायेगा। फैली इसी अफवाह के कारण गांव के लोग कोरोना वैक्सीन लेने से सीधा इंकार कर दिया। मामले की जानकारी जब जिला प्रशासन को हुई तो अंचलाधिकारी को ग्रामीणो के साथ बैठक कर फैली भ्रांति दुर करने का निर्देश दिया गया। सोमवार को अंचलाधिकारी आलोक वरण केशरी, अंचल निरीक्षक राजेश साहा, राजस्व कर्मचारी सुरेश सिंह मनीरामपुर पहुंचे। मनीरामपुर बड़ी मस्जिद के निकट ग्रामीणो की बैठक बुलायी गयी। बैठक में पूर्व जिला परिषद सदस्य हाजीकुल आलम, मौलाना अताउर रहमान, मनारूल शेख, लुत्फुल, मौलाना सुलेमान ने ग्रामीणो को बताया कि कोरेाना से बचाव के लिए वैक्सीन लेना जरूरी है। अंचलाधिकारी सहित मौलाना एवं पूर्व जिला परिषद सदस्य द्वारा ग्रामीणो के बीच फैलायी गयी अफवाह से होने वाले नुकसान एवं वैक्सीन लेने से होने वाले फायदो को बताया गया। कुछ ग्रामीणो ने गांव में ही वैक्सिनेशन सेंटर खोलने की मांग की। बैठक में मौजूद ग्रामीणो ने अधिकारियो को आश्वास्त किया कि वे कोरोना का टीका जरूर लेंगे।
Looks like you have blocked notifications!

Leave a Reply